सऊदी में महिलाओं को मिली बड़ी आज़ादी, अब खुद कर सकेगी ये काम

सऊदी अरब अपने कड़े नियमों के लिए मशहूर है. खासकर वहां की महिलाओं के लिए यह किसी कैद से कम नहीं है. लेकिन अब सऊदी अरब सरकार ने वहां की महिलाओं के लिए नियमों में कुछ संशोधन किये हैं. अब उन्हें अकेले बिजनेस शुरू करने और उसे चलाने की इजाजत मिल गई है, इस काम के लिए अब उन्हें अपने पति या पुरुष रिश्तेदार से अनुमति लेने की भी आवशयकता नहीं होगी. गुरुवार को सऊदी की सरकार ने नीतियों में इस बदलाव का ऐलान किया.

दरअसल, सऊदी के शाह प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा देकर महिलाओं को इसमें आगे करना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने महिलाओं के लिए व्यापार-व्यवसाय के द्वार खोल दिए हैं. सऊदी सरकार के इस कदम के साथ ही सदियों से चले आ रहे गार्जियनशिप सिस्टम का भी अंत हो गया. बता दें कि, गार्जियनशिप सिस्टम के अनुसार एक महिला को अकेले सफर करने, किसी क्लास में दाखिला लेने या फिर किसी सरकारी कागज़ पर हस्ताक्षर करने जैस कई कामों के लिए, पहले किसी पुरुष अभिभावक की अनुमति लेनी होती थी. 

लाहौर में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने तीसरी बार किया निकाह

गौरतलब है कि, सऊदी अरब में महिलाओं को ड्राइविंग करने और फुटबॉल मैच देखने की इजाजत भी नहीं थी, लेकिन क्राउन प्रिंस के पिता किंग सलमान ने इस पर से प्रतिबन्ध हटा दिया था. सऊदी सरकार के इस कदम को एक ऐतिहासिक फैसले एक रूप में देखा जा रहा है और आशा की जा रही है कि, आने वाले समय में सऊदी कि महिलाओं को और ज्यादा आज़ादी मिलेगी. 

You may also like

China के सबसे ‘शक्तिशाली’ व्‍यक्ति की चेतावनी, ट्रेड वार से होगी सबसे ज्‍यादा बर्बादी

चीन के सबसे अमीर और शक्तिशाली व्‍यक्ति जैक मा ने