आखिर क्यों एंड्रॉयड स्मार्टफोन मेकर्स iPhone X के इस फीचर की कर रहे हैं कॉपी?

- in गैजेट

ऐपल iPhone लॉन्च करता है और ये ट्रेंड दूसरी स्मार्टफोन कंपनियां फौलो करती हैं. सैमसंग जैसी बड़ी कंपनियों पर ऐपल ने पेटेंट को लेकर मुकदमा भी किया था और बड़ी रकम भी वसूल की है.

आखिर क्यों एंड्रॉयड स्मार्टफोन मेकर्स iPhone X के इस फीचर की कर रहे हैं कॉपी?इस बार ऐपल ने काफी समय के बाद एक नए तरह के डिजाइन के साथ iPhone X लॉन्च किया है. धीरे धीरे कुछ कंपनियों ने iPhone X जैसे दिखने वाले स्मार्टफोन लाने की तैयारी शुरू कर दी है. इस दौड़ में सिर्फ दोयम दर्जे की कंपनियां नहीं हैं, बल्कि ऐसी भी कंपनियां हैं जो काफी बड़ी हैं और दुनिया भर में अलग पहचान रखती हैं.

ओपो, वीवो और ऐसुस के बाद अब इस रेस में वन प्लस भी शामिल होती दिख रही है. जल्द ही One Plus 6 लॉन्च होने वाला है और रिपोर्ट के मुताबिक इसमें भी iPhone X जैसा नॉच दिया जाएगा. इसकी तस्वीर भी लीक हुई है जिसमें साफतौर पर iPhone X जैसा ही नॉच देखा जा सकता है.

क्या है नॉच

ऐपल ने इस बार ओलेड बेजल लेस डिस्प्ले के साथ iPhone X लॉन्च किया है. डिस्प्ले के सबसे ऊपर सेंटर में एक खाली जगह जो डिस्प्ले का हिस्सा नहीं है. इसमें फ्रंट कैमरा और फेस आईडी के लिए कई तरह के सेंसर्स दिए गए हैं और यहीं पर इयरपीस भी है.

अब दूसरी कंपनियां भी बेजल लेस डिस्प्ले वाले स्मार्टफोन ला रही हैं और इसमें iPhone X जैसा नॉच दे रही हैं.  

One Plus के सीईओ कार्ल पेई ने कहा है कि One Plus 6 में दिया जाने वाला नॉच iPhone X के मुकाबले छोटा होगा. लेकिन यह एसेंशियल फोन से बड़ा होगा. कार्ल ने यह भी कहा है कि One Plus 6 में चिन (नीचे बेजल) भी दिया जाएगा, क्योंकि एंड्रॉयड फोन मेकर के लिए चिन देना जरूरी है.  

One Plus 6 में iPhone X जैसा नॉच दिए जाने की बात पर कंपनी के सीईओ कार्ल पेई का कहना है कि अगर ऐपल ने इसे अभी नहीं लाया होता तो बाद दूसरी कंपनियां खुद से ये फीचर लेकर आतीं क्योंकि यह ट्रेंड होता.द वर्ज से बात करते हुए उन्होंने यह भी माना है कि ऐपल पूरी इंडस्ट्री को कुछ चीजों में तेजी से आगे बढ़ाने में मदद करता है.

ऐसुस ने भी मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस के दौरान कहा था कि iPhone X जैसा नॉच देना इसलिए जरूरी है, क्योंकि अब ये ट्रेंड बन चुका है. 

चाहे बाद ग्लास मेटल बॉडी की हो या फुल मेटल बॉडी की या फिर एंटेना लाइन की . कई चीजें ऐसी हैं जिन्हें दूसरी कंपनियों ने लगातार कॉपी किया है. यहां तक की iOS जैसे फीचर्स और बिल्कुल ऐसा ही दिखने वाला ओएस भी है मार्केट में.

सवाल उठता है कि कंपनियां ऐसा क्यों करती हैं? सीधा जवाब ये है कि चूंकि ऐपल बड़ी कंपनी है और iPhone ट्रेंड सेट करता है और दूसरी कंपनियां उसे सस्ते में देकर बाजार लूट लेती हैं. लेकिन क्या ऐपल को इससे नुकसान होता है? जवाब है नहीं.  

गौरतलब है कि इस Android P में गूगल ने iPhone X जैसे नॉच का सपोर्ट दिया जाएगा. देने का मकसद है ये है कि अब आने वाले समय में न सिर्फ कुछ एंड्रॉयड स्मार्टफोन बल्कि ज्यादातर मिड रेंज एंड्रॉयड स्मार्टफोन में iPhone X जैसा नॉच दिया जाएगा. अब देखना दिलचस्प होगा कि इस साल ऐपल कौन से फीचर से ट्रेंड सेट करती है….

You may also like

10,000 रुपये से भी कम कीमत में इस भारतीय कंपनी ने लॉन्च किया अपना लैपटॉप

नई दिल्ली। भारतीय निर्माता कंपनी RDP ने अपना सबसे