जब राजस्थान के BJP MLA ने किया ये सवाल, तो गृहमंत्री ने दिया ये जवाब

जयपुर: राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र में शनिवार को गोतस्करी की शक में भीड़ द्वारा हरियाणा के कोलागांव निवासी 28 साल के अकबर खान (28) पीट-पीट हत्या करने के मामले में एक नया मोड़ आ गया है. सियासी आरोप -प्रत्यारोप के बीच बीजेपी एमएलए ज्ञानदेव अहूजा ने सवाल उठाया है कि अकबर की मौत पुलिस कस्टडी में हुई है या भीड़ की पिटाई से इसकी न्यायिक जांच होना चाहिए. वहीं, अपनी पार्टी के विधायक के इस आरोप पर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा, अगर उनकी गलती पाई गई तो उन्हें भी दंडित किया जाएगा, लेकिन अभी तक मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं है.जब राजस्थान के BJP MLA ने किया ये सवाल, तो गृहमंत्री ने दिया ये जवाब

बता दें कि शनिवार को रामगढ़ थाने के थानाधिकारी सुभाष शर्मा ने बताया कि हरियाणा के कोलागांव निवासी अकबर खान (28) अपने एक साथी के साथ दो गायों को लेकर अपने गांव जा रहा था, जब वह लालवंडी गांव से होकर गुजर रहा था तो कुछ अज्ञात लोगों के एक समूह ने गो तस्करी के संदेह में उनकी बुरी तरह से पिटाई कर दी. लोगों ने दोनों की पिटाई गो-तस्कर होने के संदेह में की. मृतक का साथी घटनास्थल से किसी तरह बचकर निकल गया था और अकबर खान को अस्पताल में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था. इसके बाद बीजेपी एमएलए ज्ञानदेव अहूजा ने कहा था,” गोतस्कर की मौत अस्पताल में ले जाते हुई है. मैं न्यायिक जांच की मांग करता हूं ताकि ये सुनिश्चित हो सके कि उसे भीड़ ने पीट-पीट कर मारा है या पुलिस की पिटाई से मौत हुई है.

गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने शनिवार को बताया कि अलवर की घटना के संबंध में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मारपीट में शामिल तीन अन्य लोगों की पहचान कर ली गई है। आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है. वहीं, केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि भीड़ द्वारा की गई मारपीट निंदा योग्य है. यह कोई पहली घटना नहीं है. 1984 में सिखों के साथ जो भीड़ द्वारा मारपीट की गई थी वह अब तक की सबसे बड़ी घटना थी.

अलवर जिले में ताजा मॉब लिंचिंग की घटना से विपक्ष को एक और मुद्दा मिल गया है. विपक्ष ने सरकार पर भीड़ द्वारा मारपीट की घटना को नियंत्रण नहीं रखने के लिए आड़े हाथों लिया है. कांग्रेस महासचिव और पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने इसे भयानक और दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी और दिशा निर्देश के बावजूद अलवर में एक आदमी के साथ भीड़ ने मारपीट की. उन्होंने कहा, ”मैं कड़े शब्दों में अकबर खान की मौत की निंदा करता हूं.”

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने भी भीड़ द्वारा मारपीट की घटना के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा, ”अलवर में एक व्यक्ति की भीड़ द्वारा की गई मारपीट से हुई मौत की खबर से मुझे दुख हुआ है. भाजपा शासित राज्यों में संदेह पर लोगों द्वारा मारपीट कर उनकी हत्या किया जाना आम बात हो गई है.” पायलट ने कहा कि ससंद में कल केन्द्रीय गृह मंत्री ने भीड़ द्वारा मारपीट की घटनाओं को रोकने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की बताई थी. लेकिन वह बात भी खोखली दिखाई दे रही है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद