इन स्मार्टफोन में जल्द बदलने वाला है व्हाट्सएप का ‘लुक’, आपका तो नहीं

- in गैजेट

फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप (WhatsApp) का लुक जल्द ही बदलने वाला है. जी हां, व्हाट्सएप ने एंड्रायड बीटा टेस्टर्स के लिए एक और अपडेट को रिलीज किया है. एंड्रायड के बीटा बर्जन 2.18.74 के लिए व्हाट्सएप ने एक अडेप्टिव लॉन्चर आइकन को लॉन्च किया है. अडेप्टिव आइकन फीचर एंड्रायड के ओरियो ऑपरेटिंग सिस्टम का हिस्सा है. व्हाट्सएप का नया आइकन देखने में पुराने आइकन जैसा ही होगा.

इन स्मार्टफोन में जल्द बदलने वाला है व्हाट्सएप का 'लुक', आपका तो नहीं

मर्जी के अनुसार दे सकते हैं शेप
गैजेट्स नाउ में प्रकाशित खबर के अनुसार व्हाट्सएप का नया आइकन एक मास्क के अंदर है, जो आपकी च्वाइस के अनुसार शेप ले लेगा. यानी आप इसे अपनी मर्जी के अनुसार शेप दे सकते हैं. कंपनी के अनुसार यदि यूजर आइकन को सपोर्ट करने वाले लॉन्चर का इस्तेमाल करता है तो आप स्क्वेयर, स्क्वेयर सर्कल, सर्कल, राउंडेड स्क्वेयर और टीयर ड्रॉप शेप का चुनाव कर सकते हैं. इससे साफ है कि कंपनी एंड्रायड यूजर्स के लिए व्हाट्सएप का लुक बदलने वाली है.

गूगल प्ले से बीटा वर्जन डाउनलोड करें
किसी कारणवश यदि आपको अपडेट नहीं मिला है तो आप गूगल प्ले स्टोर से इसका बीटा वर्जन डाउनलोड कर सकते हैं. ऐसा तभी होगा जब आप बीटा टेस्टर होंगे. हाल ही में व्हाट्सप ने यूपीआई आधारित पेमेंट फीचर को भारत में शुरू किया है. हालांकि कंपनी ने पेमेंट फीचर को चुनिंदा एंड्रायड और आईओएस यूजर्स के लिए शुरू किया है. दूसरी तरफ व्हाट्सएप यूजर्स को स्पैम मैसेज से छुटकारा दिलाने के लिए एक फीचर को टेस्ट कर रहा है.

फॉरवर्ड मैसेज की जानकारी मिलेगी
व्हाट्सएप यूजर्स ‘गुड मॉर्निंग’ और ‘गुड इवनिंग’ के फॉरवॉर्डेड मैसेज से परेशान रहते हैं. ऐसे में कंपनी की तैयारी इस तरह के मैसेज से यूजर्स को छुटकारा दिलाने की है. इस फीचर्स की खासियत यह होगी कि यूजर्स को फॉरवर्ड मैसेज की जानकारी मिलेगी. यूजर्स आसानी से यह पता लगा पाएंगे कि यह मैसेज किसी के द्वारा टाइप किया गया है या फिर दूसरी चैट से फॉरवर्ड किया जा रहा है. जो मैसेज फॉरवर्ड किए जाएंगे उसपर ‘Forwarded Message’ लिखा होगा जिससे साफ हो जाएगा कि ये मैसेज कहीं से कॉपी करके फॉरवर्ड किया जा रहा है.

You may also like

भारत में WhatsApp ने तैनात किया अफसर, पड़ेगा यह असर

WhatsApp ने भारत में सोशल मीडिया पर बढ़ते फेक न्यूज