रोटोमैक कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी को CBI ने कोर्ट में किया पेश

- in उत्तरप्रदेश

लखनऊ: करोड़ों रूपये के घोटाले में गिरफ्तार रोटोमैक कंपनी के मालिक कानपुर निवासी विक्रम कोठारी का आज कोर्ट में पेश किया गया। बता दें कि सीबीआई ने विक्रम कोठारी एवं उसके पुत्र को 11 दिनों के रिमांड पर लिया था। जिसके बाद आज उनकी अदालत में पेशी कराई गई। इससे पहले सीबीआई ने 24 फरवरी को लखनऊ विशेष कोर्ट में राहुल और विक्रम कोठारी को पेश किया था। सीबीआई पूछताछ के लिए रिमांड की अर्जी दोबारा देगी। कोठारी के उपर विभिन्न बैंकों से करोड़ों के लोन लेकर हड़पने का केश दर्ज है।

रोटोमैक कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी को CBI ने कोर्ट में किया पेश

पिछले दिनों विक्रम कोठारी के कानपुर के तिलक नगर स्थित कोठी पर केंद्रीय खुफिया एजेंसी ने छापा मारा। इस दौरान सीबीआई ने विक्रम कोठारी सहित पत्नी साधना कोठारी और बेटे राहुल कोठारी को गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई की दूसरी टीम ने माल रोड सिटी सेंटर स्थित रोटोमैक ग्लोबल के मुख्यालय पर धावा बोला। वहीं तीसरी टीम ने शाम को पनकी स्थित रोटोमैक फैक्ट्री पर छापा मारा। रोटोमैक ग्लोबल कम्पनी को सात बैंकों का 3695 करोड़ का ब्याज सहित लोन बकाया है। इस मामले में सीबीआई ने रोटोमैक ग्लोबल प्राइवेट लिमेटेड के निदेशकों विक्रम कोठारी सहित पत्नी साधना व राहुल एवं बैंक ऑफ बड़ौदा के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है।

योगी राज में अपराध पर लगाम लगाने के लिए 11 महिने में 1350 एनकाउंटर

विभिन्न बैंकों ने विक्रम कोठारी को 5 हजार करोड़ का लोन दिया था, जिसमें सबसे ज्यादा लोन 14 सौ करोड़ रूपया है, जिसे इण्डियन ओवरसीज बैंक ने दिया है। तो वहीं दूसरे नम्बर पर सबसे अधिक लोन देने के मामले में बैंक आफ इण्डिया है, जिसने 1395 करोड़ रूपये कोठारी की कम्पनी को लोन दिया था। तो वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा ने 600 करोड़, यूनियन बैंक ने 485 करोड़ एवं इलाहाबाद बैंक 352 करोड़ रूपये का भारी भरकम लोन दिया था। 

You may also like

केरल बाढ़ पीड़ितों की सराहनीय मदद हेतु यूपी पत्रकार एसोसिएशन को किया सम्मानित

लखनऊ : हाल ही में केरल में आयी