यूपी बोर्ड रिजल्ट 2018: रिजल्ट आने से पहले ही इंटर व हाईस्कूल के 12 लाख विद्यार्थी फेल

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2018 में भले ही 67 लाख से अधिक परीक्षार्थियों ने शामिल होने की दावेदारी की थी। उनमें से करीब 12 लाख परीक्षार्थी रिजल्ट आने से पहले ही फेल-पास की दौड़ से लगभग बाहर हो चुके हैं। ऐसे में इस बार रिजल्ट में 55 लाख 16 हजार से अधिक के बीच में ही अंक पाने और उत्तीर्ण या अनुत्तीर्ण जानने की होड़ रहेगी। 

यूपी बोर्ड रिजल्ट 2018: रिजल्ट आने से पहले ही इंटर व हाईस्कूल के 12 लाख विद्यार्थी फेल

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल परीक्षा में 37 लाख 12 हजार 508 व इंटर में 30 लाख 17 हजार 32 सहित कुल 67 लाख 29 हजार 540 अभ्यर्थियों ने परीक्षार्थी बनने का आवेदन किया था। बोर्ड प्रशासन ने इम्तिहान शुरू होने से पहले ही आवेदन पत्रों की गहनता से जांच कराई, जिसमें हाईस्कूल के 49 हजार 384 और इंटर के 34 हजार 369 सहित कुल 83 हजार 753 के आवेदन सही नहीं मिले, इन सभी को प्रवेश पत्र ही जारी नहीं किए गए। शेष के लिए छह फरवरी से इम्तिहान शुरू हुआ।

 सीसीटीवी कैमरे की निगरानी और नकल पर विशेष सख्ती के इंतजाम होने से पहले दिन से ही परीक्षार्थियों ने इम्तिहान से किनारा करना शुरू किया। पहली बार कुछ दिन को छोड़कर परीक्षा के अंतिम दिन तक परीक्षार्थियों ने इम्तिहान को बाय-बाय किया। इस दौरान रिकॉर्ड 11 लाख 29 हजार से अधिक परीक्षा देने ही नहीं पहुंचे। इनमें से साढ़े चार लाख से अधिक परीक्षार्थी इंटर के हैं, उन्होंने एक विषय की परीक्षा छोड़ी है, उनका फेल होना तय है।

कर्नाटक चुनाव: राहुल गांधी ने किया 5 साल में एक करोड़ नौकरियों का वादा

बाकी हाईस्कूल के परीक्षार्थियों ने जिन्होंने दो विषयों की परीक्षा छोड़ दी है वह भी बाहर हो चुके हैं, केवल एक विषय की परीक्षा छोडऩे वाले वही अभ्यर्थी उत्तीर्ण हो सकेंगे, जो अन्य विषयों में भी उत्तीर्ण हों। इस तरह से करीब 12 लाख से अधिक परीक्षार्थी रिजल्ट की दौड़ से लगभग बाहर हो चुके हैं। अब केवल 55 लाख परीक्षार्थियों में ही फेल-पास होने की जिज्ञासा बची है।

बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव का कहना है कि जिन अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त हुए या फिर जो परीक्षा छोड़कर भागे हैं वह नकल के भरोसे थे। इम्तिहान में सरकार के निर्देश पर नकल रोकने के ठोस इंतजाम किए गए, इससे पढऩे वाले छात्र-छात्राओं में खुशी है।

उत्तर प्रदेश बोर्ड के परीक्षार्थी रिजल्ट जारी होने पर परीक्षार्थी अपना रिजल्ट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upmspresults.up.nic.in पर देख सकेंगे। करीब 55 लाख छात्र बेसब्री से अपने परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे हैं। बोर्ड ने कहा है कि 10वीं और 12वीं का रिजल्ट एक साथ दोपहर 12.30 बजे घोषित कर दिया जाएगा। यूपी बोर्ड रिजल्ट से पहले ज्यादातर छात्र काफी उत्साहित हो जाते हैं और ऑनलाइन परिणाम देखने के समय कई गलतियां कर बैठते हैं। ऐसा करने से उन्हें बचना चाहिए। छात्रों को यूपी बोर्ड रिजल्ट देखने से पहले कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

रिजल्ट देखने के दौरान एकसाथ कई छात्रों के वेबसाइट खोलने के कारण साइट क्रैश हो सकती है। छात्र ऑफिशियल वेबसाइट को ट्रैक करते रहें। यूपी बोर्ड रिजल्ट 2018 देखने के बाद उसकी एक कॉपी सुरक्षित जरूर रख लें। रिजल्ट आने से पहले ही अपने पास एडमिट कार्ड जरूर तैयार रखें।

यूपी बोर्ड में इस बार 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 67 लाख छात्र बैठे थे। जिनमें 10वीं के 37,12,508 और 12वीं के 30,17,032 छात्र शामिल थे। पिछले साल के मुकाबले इस साल छात्रों की संख्या काफी बढ़ी है। हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं 6 फरवरी से 12 मार्च के बीच सम्पन्न हुई थी। जिसके बाद 17 मार्च से परीक्षाओं का मूल्यांकन भी रिकार्ड समय में पूरा कर लिया गया। इस शैक्षणिक सत्र में यूपी बोर्ड ने कई उपलब्धियां हासिल की है और अब समय से पहले रिजल्ट घोषित कर नया कीर्तिमान भी बनाने जा रहा है। 

साभार: दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए