जानकारी के मुताबिक, सोनभद्र के जिला जेल में जर्मन नागरिक हेरिक होल्कर छह नवंबर 2017 से बंद था. सोमवार को वह पेशी पर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू ले जाते समय पुलिस कस्टडी से ट्रेन से कूदकर इलाहाबाद में फरार हो गया. विदेशी नागरिक के फरार हो जाने के बाद हड़कंप मच गया है. जर्मन नागरिक हेरिक होल्कर की हिमाचल प्रदेश के कुल्लू न्यायालय में पेशी थी. जिसे लेकर रविवार रात त्रिवेणी एक्सप्रेस ट्रेन से कुल्लू के लिए रवाना हुई थी. बताया गया कि सुबह ट्रेन इलाहाबाद स्टेशन पहुंची. जहां साथ चल रहे पुलिस कर्मियों को चकमा देकर हेरिक होल्कर कहीं फरार हो गया. इस दौरान काफी खोजबीन के बाद सोनभद्र के एसपी को सूचना दी गई.

जाली पासपोर्ट रखने के आरोप में किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में छह नवंबर 2017 को एक रेलवे कर्मचारी के साथ धक्का-मुक्की करने के आरोप में जर्मन नागरिक को पकड़ा. उस पर जाली वीजा के आधार पर यात्रा करने का भी आरोप है. जमानत अर्जी खारिज होने के बाद उसे जेल भेज दिया गया.

यूपी: सड़क हादसों में पांच लोगों की मौत

तीन नवंबर 2017 को रेल सुपरवाइजर से भिड़ा था जर्मन नागरिक

तीन नवंबर 2017 को यही जर्मन नागरिक सोनभद्र के राबर्टसगंज रेलवे स्टेशन पर रेल सुपरवाइजर अमर कुमार से उलझ पड़ा था. इसके बाद राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) द्वारा मिर्जापुर रेलवे स्टेशन पर लाये जाने पर उसने पुलिसकर्मियों पर भी डंडे से हमला करते हुए भागने की कोशिश की थी. हालांकि जीआरपी (मिर्जापुर) के निरीक्षक समर बहादुर सिंह ने बताया कि एरीक ने पुलिस के वाहन से उतरते ही दारोगा हरिकेश राम आजाद और मिथिलेश यादव को लाठी से पीटा. चूंकि वह विदेशी मेहमान है, इसलिये इस मामले में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया गया था.