आज डोनाल्ड ट्रंप से रूसी राष्ट्रपति पुतिन करेंगे मुलाकात, इन मुद्दों पर होगी बातचीत

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से एक बार फिर मिलने के लिए बेकरार हैं। ट्रंप फिनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में होने वाले द्विपक्षीय सम्मेलन में सिंगापुर के शानदार अनुभव को फिर से महसूस करना चाहते हैं। ट्रंप ने पिछले महीने सिंगापुर में उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन से ऐतिहासिक मुलाकात की थी। 

दोनों राष्ट्रपति के बीच ईरान, सीरिया, अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप और यूक्रेन मुद्दे पर बातचीत होने की संभावना है। दोनों नेताओं की यह पहली औपचारिक वार्ता है। दोनों नेताओं के बीच कुछ समानताएं हैं। जैसे दोनों अपने देश को एक बार फिर से महान बनाने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों के ही काम करने का तरीका लगभग तानाशाह जैसा है। इसके अलावा युवावस्था में दोनों हिंसक प्रवृत्तियों में शामिल रहे हैं। 
ट्रंप और पुतिन के बीच सोमवार को हेलसिंकी के प्रेजिडेंशियल पैलेस में मुलाकात करेंगे। फिनलैंड नाटो का हिस्सा नहीं है। साल 1995 में फिनलैंड यूरोपिय संघ में शामिल तो हुआ था लेकिन सैन्य गठबंधन का हिस्सा नहीं बना। इसी वजह से दोनों देशों के लिए हेलसिंकी एक निष्पक्ष स्थल है। विमान के जरिए मॉस्को से इसकी दूरी केवल 2 घंटे की है। ऐसे में फीफा के फाइनल के बाद पुतिन के लिए यहां पहुंचना आसान था। 

ट्रंप के सामने अमेरिकी चुनाव के दौरान हुए रूस के हस्तक्षेप मामले को पुतिन के सामने उठाने का दबाव है। 2014 में क्राइमिया पर रूस के कब्जे के बाद से अमेरिकी और अन्य देशों ने मॉस्को पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिए थे। ट्रंप ने संकेत दिए हैं कि वह क्राइमिया को रूसी क्षेत्र के तौर पर मान्यता दे सकते हैं। एक तरफ जहां रूस लगातार सीरिया के राष्ट्रपति का समर्थन कर रहा है। वहीं ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने के बाद वहां हवाई हमलों का आदेश दे दिया था। माना जा रहा है कि सीरिया के मुद्दे पर दोनों देशों में आम सहमित बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी