ब्रिटेन के ब्रेग्जिट मंत्री डेविड डेविस और उनके एक सहयोगी ने इस्तीफा दे दिया है. उनका यह कदम अपनी पार्टी को एकजुट करने का प्रयास कर रहीं प्रधानमंत्री टेरीजा मे के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे की योजना यूरोपीय संघ से निकलने के बावजूद इसके साथ मजबूत आर्थिक संबंध बरकरार रखने की है. डेविस ने कल मे को लिखे एक पत्र में कहा कि इस नीति के आम निर्देश हमे बातचीत की कमजोर स्थिति में लाकर छोड़ देंगे और संभवत: उससे बच निकलना भी मुश्किल होगा. ब्रिटिश मीडिया की खबरों के मुताबिक जूनियर ब्रेग्जिट मंत्री स्टीव बेकर ने भी इस्तीफा दे दिया है. दोनों के इस्तीफा देने से दो दिन पहले ही कैबिनेट ने उस योजना को स्वीकृति दी थी जिसमें एक बैठक में ब्रसेल्स के साथ बातचीत के रास्ते खोलने के प्रयास संबंधी बातें शामिल थीं.

मरियम को हुई सजा तो इन लोगों ने लिया मजा

वहीँ बुधवार को प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने ये घोषणा की थी कि ब्रिटेन 29 मार्च, 2019 को रात 11 बजे (स्थानीय समयानुसार) यूरोपीय संघ से अलग हो जाएगा. टेरीजा ने कहा था कि यूरोपीय संघ से अलग होने संबंधी विधेयक में संशोधन किया जाएगा ताकि ब्रेग्जिट की तिथि और समय को लेकर प्रतिबद्धता जताई जाए. उन्होंने एक अखबार में लिखे लेख में कहा था कि हमारी प्रतिबद्धता को लेकर किसी तरह का संदेह नहीं करें, ब्रेग्जिट हो रहा है. यह ऐतिहासिक विधेयक के पहले पन्ने पर स्पष्ट रूप से अंकित है. पिछले साल जून में जनमत संग्रह के बाद ब्रेग्जिट की प्रक्रिया आरंभ हुई है. लेकिन ऐसे में ब्रेग्जिट मंत्री डेविड डेविस और जूनियर ब्रेग्जिट मंत्री स्टीव बेकर के इस्तीफे के बाद टेरीजा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.