उन्नाव: दलित युवती को जिंदा जलाए जाने के पीछे निकला प्रेम प्रसंग

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बीते दिनों एक दलित लड़की की जिंदा जलाकर हत्या किए जाने के मामले में पुलिस ने अहम खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक, लड़की की हत्या प्रेम प्रसंग के चलते की गई थी. पुलिस युवती की हत्या के आरोप में उसके आशिक विकास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पुलिस ने बताया कि विकास ने ही उस दिन युवती को खेतों की ओर बुलाया था और लड़की सब्जी लेने का बहाना बनाकर घर से निकली थी. लेकिन विकास की मंशा कुछ और ही थी. पुलिस का कहना है कि आरोपी से पूछताछ और मामले की जांच के बाद कुछ और नए खुलासे हो सकते हैं.

दरअसल विकास को शक हो गया था कि लड़की किसी और से प्रेम करने लगी है. इसी से नाराज होकर विकास ने पीड़िता को मिलने के बहाने से बुलाया और पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया.

इतना ही नहीं विकास ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश भी की. विकास ने यह दिखाने के लिए कि घटना में कई लोग शामिल थे, घटना स्थल के पास एक डायरी भी छोड़ दी थी. पुलिस को घटना स्थल से डायरी के अलावा पीड़िता की साइकिल, पेट्रोल की पिपिया और एक माचिस की डिब्बी भी मिली थी.

 प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित का विधानसभा क्षेत्र होने के चलते पुलिस ने तत्परता दिखाई और 24 घंटे में आरोपी की गिरफ्तारी की है. घटना गुरुवार की शाम की है.

यह थी पूरी घटना

गुरुवार की शाम करीब 6.0 बजे उन्नाव के बारासगवर थाना क्षेत्र के सथनीबाला खेड़ा गांव की रहने वाली 19 वर्षीय पीड़िता की जली हुई लाश घर से 100 मीटर की दूरी पर कच्चे रास्ते के किनारे मिली थी.

हाईकोर्ट ने दिया शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति का आदेश

परिजनों का कहना है कि पीड़िता सब्जी लेने पास के साप्ताहिक बाजार जाने के लिए निकली थी. पुलिस को प्रारंभिक जांच में लड़की की हत्या में कई लोगों के शामिल होने का शक था. घटना के बाद इलाके में गुस्से का माहौल बन गया था और एहतियातन पुलिस बल तैनात करना पड़ा था.

घटना की गंभीरता को देखते हुए SP पुष्पांजलि खुद मौका-एक-वारदात पर मुआयने के लिए पहुंची थीं. पुलिस ने मामले की जांच के लिए फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वॉड की भी मदद ली.

You may also like

केरल बाढ़ पीड़ितों की सराहनीय मदद हेतु यूपी पत्रकार एसोसिएशन को किया सम्मानित

लखनऊ : हाल ही में केरल में आयी