तारीखों से तंग महिला ने कोर्ट की तीन मंजिला छत पर चढ़कर बोली- फैसला नहीं हुआ तो कूद जाऊंगी

- in राष्ट्रीय
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर कलक्ट्रेट से सटे न्यायिक परिसर में खेड़ीकरमू निवासी विवाहिता के हाईप्रोफाइल बखेड़े को देख घंटों अफरातफरी का आलम रहा। विवाहिता हाथ में सुसाइड नोट लेकर जान देने के लिए न्यायिक परिसर की तीन मंजिला इमारत पर चढ़ गई। 

महिला ने ससुराल पक्ष पर उत्पीड़न के साथ ही मंसूरपुर थाना पुलिस पर अपना बेटा छीनकर पति को देने का आरोप लगाते हुए नीचे कूदकर जान देने की धमकी दी। महिला आरोप था कि हर बार कोर्ट से तारीख मिलती है, लेकिन इंसाफ नहीं मिल रहा है। काफी देर तक चले हंगामे के बाद आखिरकार किसी तरह पुलिस लोगों के सहयोग से महिला को नीचे उतारने में सफल रही। 

जिसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया। महिला से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसके आधार पर उससे पूछताछ की जा रही है। शामली के खेड़ीकरमू निवासी बिजेंद्र की बेटी साक्षी की शादी वर्ष 2013 में मंसूरपुर क्षेत्र के गांव बोपाड़ा निवासी सन्नी पुत्र धनवीर के साथ हुई थी। 

करीब 11 महीने से साक्षी मायके में ही रह रही है, जिसका पति से फैमिली कोर्ट में वाद विचाराधीन है। मंगलवार को साक्षी भाई राहुल व मां उषा देवी के साथ कोर्ट में तारीख पर आई थी, जहां उन्हें दो माह बाद की अगली तारीख दे दी गई। 

इसके कुछ देर बाद ही साक्षी परिजनों से अलग होकर न्यायिक परिसर की तीन मंजिला इमारत की छत पर पहुंच गई, जहां से वह तीसरी मंजिल की खिड़की पर बने छज्जे पर उतर गई और वहां से नीचे कूदकर आत्महत्या करने की धमकी देने लगी। 

महिला को तीन मंजिला बिल्डिंग पर खड़ी महिला की धमकी से वहां अफरातफरी मच गई। नीचे लोगों की भीड़ जमा हो गई। मामले की जानकारी मिलते ही सिविल लाइंस थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों की मदद से काफी देर की मशक्कत के बाद आखिरकार साक्षी को नीचे उतारने में सफल रही। 

इसके बाद साक्षी को थाने ले जाया गया, जहां उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला, जिसमें अपनी मौत के लिए उसने ससुराल पक्ष के उत्पीड़न के साथ ही मंसूरपुर थाना पुलिस की कार्यप्रणाली को भी जिम्मेदार ठहराया था। इसके बाद पुलिस ने महिला को समझा-बुझाकर शांत करते हुए उसे हिरासत में ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी