एमएस धोनी बने विश्व के पहले विकेटकीपर, बर्थ-डे से एक दिन पहले बनाया ये खास रिकॉर्ड

- in खेल

टीम इंडिया के अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी ने अपने जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले देशवासियों को स्पेशल गिफ्ट दिया है। 7 जुलाई को अपना 37वां जन्मदिन मनाने वाले धोनी 500 इंटरनेशनल मैच खेलने वाले विश्व के पहले विकेटकीपर बन गए हैं। धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ कार्डिफ में दूसरा टी-20 इंटरनेशनल मैच के शुरू होते ही यह रिकॉर्ड अपने नाम किया। एमएस धोनी बने विश्व के पहले विकेटकीपर, बर्थ-डे से एक दिन पहले बनाया ये खास रिकॉर्ड

धोनी 500 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले भारत के तीसरे और विश्व के 9वें क्रिकेटर बन गए हैं। भारत में धोनी से आगे ‘मास्टर ब्लास्टर’ सचिन तेंदुलकर और ‘द वॉल’ राहुल द्रविड़ काबिज हैं। तेंदुलकर ने 2013 में संन्यास लेने से पहले कुल 664 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 200 टेस्ट, 463 वन-डे और एक टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला। वहीं द्रविड़ ने 164 टेस्ट, 344 वन-डे और एक टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला। महेंद्र सिंह धोनी ने अपने 500 अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान 90 टेस्ट, 318 वन-डे और 92 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं।

धोनी विश्व के 9वें क्रिकेटर हैं, जिन्होंने 500 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। इस लिस्ट में टॉप पर सचिन तेंदुलकर काबिज हैं। दूसरे नंबर पर श्रीलंका के पूर्व महान बल्लेबाज महेला जयवर्धने (652) काबिज हैं। तीसरे नंबर पर श्रीलंका के ही पूर्व कप्तान कुमार संगकारा (594) मौजूद हैं। चौथे पर श्रीलंका के पूर्व विस्फोटक ओपनर सनथ जयसूर्या (586), पांचवें पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग (560), छठें पर पूर्व पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफरीदी (524), सातवें पर पूर्व दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर जैक्स कैलिस (516) और आठवें पर राहुल द्रविड़ (509) काबिज हैं। ध्यान हो कि कुमार संगकारा ने कई मैच गैर विकेटकीपर के रूप में खेले, जिसकी वजह से धोनी इस रिकॉर्ड के हकदार बने।
बता दें कि धोनी ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट का आगाज 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ वन-डे मैच से की थी। अपने पहले मैच में धोनी बिना खाता खोले रनआउट होकर पवेलियन लौट गए थे। 2005 में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया।

वहीं 2006 में वह भारत के पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में टीम का हिस्सा थे। याद हो कि धोनी ने 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच में ही टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने 90 टेस्ट की 144 पारियों में 6 शतक और 33 अर्धशतकों की मदद से 4876 रन बनाए। वहीं वन-डे में वर्ल्ड के बेस्ट फिनिशर ने 10 शतक और 67 अर्धशतकों की मदद से 9967 रन बनाए हैं। टी-20 इंटरनेशनल में धोनी ने अब तक दो अर्धशतकों की मदद से 1455 रन बनाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

एहसान मनि ने कहा- अब आपसी सहमति से नहीं सुलझ सकता BCCI से मुआवजा विवाद

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई)