उत्तरी मुंबई के कांदिवली उपनगर में स्कूली बच्चे रेल से यात्रा करने वाले लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गए हैं. बच्चे स्टेशन पर लगे एस्केलेटर के आपात स्विच को बार-बार दबाते हैं जिससे यात्रियों को काफी समस्या का सामना करना पड़ता है. कांदिवली स्टेशन पर रेलवे के एक कर्मचारी ने कहा, ”स्कूली बच्चों द्वारा एस्केलेटर के स्विच बंद करने से यहां औसतन रोजाना 25 से 30 घटनाएं होती है.” jsnbs रेलवे क एक अधिकारी ने बताया ”हमें स्टेशन पर अचानक एस्केलेटर के रुकने को लेकर कई शिकायतें मिल रही हैं.”

मोहन भागवत बोले- हिंदू धर्म को कमजोर करने की ये कोशिश घातक

उन्होंने कहा, ‘‘ एस्केलेटर रुकने के ज्यादातर मामले तकनीकी खामी वाले नहीं है बल्कि स्कूली बच्चों द्वारा आपात बटन दबाने के हैं. हमने आपात स्विच दबाते हुए कुछ छात्रों को पकड़ा, लेकिन बच्चों के खिलाफ किसी भी तरह की सख्त कार्रवाई का कोई प्रावधान नहीं है.’’ उन्होंने बताया कि एक सप्ताह पहले ही कांदिवली (पूर्व) के एक प्रतिष्ठित स्कूल के नौवीं कक्षा के छात्र को एस्केलेटर पर आपात स्विच दबाते हुए पकड़ा गया था.

अन्य स्टेशनों पर लगे एस्केलेटरों से अलग कांदिवली स्टेशन पर लगे एस्केलेटर मानवरहित हैं. इसके पहले भी स्कूी बच्चों रेलवे प्लेटफार्म पर स्टंट करते देख जा चुका है. इस मामले में रेलवे पुलिस ने बच्चों को पकड़ा भी था, लेकिन कुछ ही घंटों में उन्हें चेतावनी देकर छोड़ दिया गया.