ये है दुनिया का सबसे अमीर गांव, यहाँ रहने वाला हर शख्स होता है करोड़पति.. देखें वीडियो

जब कभी हम गांव का नाम सुनते हैं तो हमारे ज़ेहन में टूटी-फूटी सड़के, बिजली, पानी जैस सुविधाओं से विहीन ग्रामीण अंचल का अक्श उभरता है। साथ ही आम तौर पर गांव में रहने वाले लोगों को अनपढ़-गंवार और गरीब समझा जाता है पर आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानने के बाद आपकी ये धारणा पूरी तरह बदल जाएगी। जी हां, आज हम आपको दुनिया के सबसे अमीर गांव से रूबरू कराने जा रहे हैं जहां रहने वाला हर शख्स करोड़पति है। दरअसल जिस गांव की बात हम कर रहे हैं वो कहीं और नहीं बल्कि हमारे पड़ोसी मुल्क चीन में है जहां रह रहा हर व्यक्ति बेहद अमीर है। साथ ही इस गांव में और भी कई खूबियां हैं जो यहां की अमीरी को दर्शाती है।

ये है दुनिया का सबसे अमीर गांव, यहाँ रहने वाला हर शख्स होता है करोड़पति.. देखें वीडियोचीन के पूर्वी प्रांत जियांग्सू में बसे इस आधुनिक गांव का नाम हुआक्सी है। दुनिया के सबसे आकर्षक गांव तक आप चीन के सबसे मुख्य शहर शंघाई से दो घंटे की ड्राइव करके आसानी से पहुंच सकते हैं । यहां रहने वाले लोगों के पास अपने खुद के अच्छे घर तो हैं है .. साथ ही इस गांव में शानदार शॉपिंग मॉल्स और होटल के अलावा 72 फ्लोर का स्काईस्क्रैपर भी है जो कि करीब 328 मीटर ऊंचा है।

इसके बारे में बताया जाता है कि ये एफिल टावर से भी ऊंचा है। वहीं इस गांव में हेलीकॉप्टर, टैक्सी और थीम पार्क भी मौजूद है।इस गांव में रोशनी से चमकती सडके और आसमान में उडान भरते हेलिकॉप्टर दिखना आम बात है।

ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हैं कि ये गांव कितना शानदार और आधुनिक होगा और यही वजह है कि चीन के इस गांव को दुनिया का सबसे ऑलीशान और अमीर गांव माना गया है। वैसे इस गांव में सिर्फ 2000 निवासी रहते हैं और हर आदमी के बैंक खाते में 85 लाख रुपए की जमा राशि है। साथ ही यहां के हर निवासी के पास एक कार और लग्जरी बंगला है। जबकि यहां कामकाजी लोगों की सैलरी लाखों में है। यही वजह है कि ये गांव दुनिया के बड़े-बड़े मॉडर्न और मेट्रो शहरों को भी मात देता है।लेकिन अगर यहां रहने वाला कोई शख्स इस गांव को छोड़कर जाता है तो फिर से वापस गरीब बन जाता है। क्योंकि इस गांव में रहने वाले हर शख्स को विशेष सुविधाएं दी जाती हैं ऐसे में जब वो गांव छोड़ता है तो उससे ये सारी सुविधाएं भी वापस ले ली जाती है और इसीलिए वह शख्स फिर से गरीब बन जाता है।

वैसे आपको बता दें ये गांव कम्यूनिस्ट सरकार के कई साल की मेहनत के बाद इस स्थिति में पहुंचा है। दरअसल ये गांव पहले बेहद गरीब था लेकिन फिर सरकार और समाजिक संस्थाओं के काफी मेहनत से ये दुनिया का अमीर गांव बना। दरअसल 2003 में इस गांव ने दुनिया का ध्यान तब खींचा जब इस गांव की इकोनॉमी 100 बिलियन युआन के करीब पहुंच गई।साथ ही इसमे समय के साथ और सुधार आया। बताया जाता है यहां रहने वाले लोग अपने वेतन का इस्तेमाल कंपनी के इन्वेस्टमेंट में करते हैं। देखें वीडियो-


 

=>
=>
loading...

You may also like

बड़ीखबर: मोदी सरकार के 4 साल पूरे, आज कटक में प्रधानमंत्री पेश करेंगे रिपोर्ट कार्ड

केंद्र में मोदी सरकार के आज चार साल