इस ग्रुप का हुआ शाहजहां का भव्य लालकिला!

भारत के 77 साल पुराने एक बड़े कारपोरेट हाउस डालमिया ग्रुप ने एक शानदार कांन्ट्रैक्ट के जरिए लाल किले को अपना कर लिया है. दरअसल, यह समूह 25 करोड़ रुपए में देश के इस ऐतिहासिक स्मारक को गोद में लेने वाला भारत का पहला कॉर्पोरेट हाउस बन गया है. 17 वीं सदी में  इस लाल किला को पांचवे मुगल बादशाह शाहजहां ने बनवाया था और आगरा से दिल्ली राजधानी स्थापित की थी. डालमिया ग्रुप ने इंडिगो एयरलाइंस और जीएमआर को रेस में पीछे छोड़ते हुए भारत सरकार की नीति ‘एडॉप्ट एक हेरिटेज’ के तहत सबसे शानदार ठेका हासिल किया है.

अब डालमिया ग्रुप लाल किले को अगले कुछ महीने में विकसित करने पर प्लानिंग कर रहा है. जुलाई में सुरक्षा एजेंसियों को अस्थाई रूप से सौंपने से पहले इसका काम 23 मई से पहले शुरू हो जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल की लाल किले से इस कार्यकाल की अंतिम स्पीच के लिए सफाई अभियान को तेजी से शुरू करना है.

भारत सरकार ने सितंबर 2017 में देश की 100 स्मारकों और धरोहरों के लिए ‘एडॉप्ट अ हेरिटेज’ स्कीम लॉन्च की थी. इसमें उत्तर प्रदेश में आगरा का ताजमहल, हिमाचल में कांगड़ा का किला, मुंबई के कानेरी की बौद्ध गुफाएं जैसे 100 स्मारक शामिल हैं. एएसआई इनका संरक्षण नहीं कर रही है.

डालमिया ग्रुप के शीर्ष अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने अस्थाई रूप से पीएम के स्वतंत्रता दिवस के संबोधन से पूरे किले को रात में रौशन करने का प्लान बनाया है. इसके बाद अन्य दूसरे काम तेजी से शुरू किए जाएंगे. शारीरिक रूप से चैलेंज्ड लोगों के टैक्टाइल फ्लोरिंग बनाई जाएगी. स्मारक के इतिहास को बताने वाले संकेतक लगाए जाएंगे.

लाल किला का उपयोग विभिन्न कंसर्न्ट और अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने लिए जाएगा ताकि पर्यटकों की रुचि जागृत की जा सके. डालमिया कॉर्पोरेट ग्रुप अपने प्लान्ड कार्यों को आगे बढ़ाएगा. ग्रुप बदले हुए किले में लोगों की विजिट्स बढ़ाने के लिए कई तरह की मार्केटिंग और विज्ञापन गतिविधियां शुरू करेगा.

उत्तर भारत में बढ़ी हुई गरमी के बीच 30 अप्रैल तक आंधी के साथ बारिश का अनुमान

डालमिया भारत सीमेंट के ग्रुप सीईओ महेंद्र सिंघई ने कहा,” हमने 30 दिनों के अंदर काम करना शुरू कर दिया है. शुरुआत में हमने इसे 5 साल के लिए हासिल किया है. इसके बाद सहमति बनने पर इस कॉन्ट्रैक्ट को आगे बढ़ाया जा सकता है. इससे हमें डालमिया ब्रांड को भारत से जोड़ने में मदद मिलेगी. यह प्रोजेक्ट कस्टमर सेंट्रिक होगा. हम चाहते हैं कि दिल्ली और एनसीआर के लोग यहां एक बार आने की बजाए नियमित रूप से आते रहे. यूरोप में कुछ महलों को देखें जो लाल किले की तुलना में बेहद छोटे हैं, लेकिन सुंदरता के साथ मेन्टेन रखे जाते हैं. हम इसी लाइनों पर स्मारक विकसित करेंगे और यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ में से एक होगा. (इनपुट- एजेंसी)

 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की