इस एक गेंद ने पलट दी बाजी, पंजाब को मिली शर्मनाक हार

- in खेल

आईपीएल के 25वें मुकाबले में हैदराबाद की टीम ने पंजाब को 13 रन से मात दे दी। इस जीत के बाद हैदराबाद की टीम अंकतालिका में नंबर दो पर आ गई है। मुकाबले में टॉस जीतकर पंजाब ने पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया और किंग्स इलेवन पंजाब के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने 14 रन पर पांच विकेट लेते हुए हैदराबाद की टीम को 132 रनों पर ऑल आउट कर दिया। हालांकि हैदराबाद ने पंजाब को सिर्फ 119 रनों पर ऑलआउट कर इस मुकाबले में बाज़ी मार ली। एक समय पर पंजाब की टीम काफी अच्छी स्थिति में थी और ऐसा लग रहा था कि वो इस मुकाबले को जीत लेगी, लेकिन एक गेंद ने पंजाब की टीम की किस्मत पलट दी।

इस एक गेंद ने पलट दी बाजी, पंजाब को मिली शर्मनाक हार

इस गेंद ने पलटी बाज़ी

133 रन का पीछा कर रही पंजाब की टीम ने 7 ओवर में बिना कोई विकेट गंवाए 53 रन बना लिए थे। क्रिस गेल 22 और लोकेश राहुल 31 रन बनाकर खेल रहे थे। केन विलियमसन को मालूम था कि अगर विकेट नहीं मिली तो ये दोनों बल्लेबाज़ मैच को जल्द ही खत्म कर देंगे। विलियमसन ने भी अपना तुरुप का इक्का निकाला और अगले ओवर के लिए राशिद खान को गेंद थमा दी। राशिद खान ने भी अपने कप्तान को निराश नहीं किया और उन्होंने 8वें ओवर की पांचवी गेंद (7.5) पर राहुल को बोल्ड कर हैदराबाद को पहली सफलती दिला दी। इसके बाद तो पंजाब की टीम ताश के पत्तों की तरह ढहती चली गई। एक के बाद एक बल्लेबाज़ आता और अपना विकेट गंवा कर चला जाता।

कप्तान बनते ही अय्यर का जबरदस्त बदलाव, इन खिलाड़ियों को किया टीम से बाहर

सिर्फ 64 रन बनाने में गंवा दिए 10 विकेट

पंजाब की टीम ने अपना पहला विकेट 55 रन के स्कोर पर गंवाया था और इस टीम का आखिरी विकेट 119 रन पर गिरा। इसका मतलब साफ है कि दिग्गज बल्लेबाज़ों से भररी पंजाब की टीम ने 64 रन बनाने में ही अपने दस के दस बल्लेबाज़ों के विकेट गंवाए। राहुल का विकेट गिरने के बाद हैदराबाद के लिए एक के बाद एक मौका बनता गया और उन्होंने मौजूद आईपीएल में दूसरी बार अपनी विरोधी टीम को ऑल आउट कर दिया। इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को भी ऑल आउट किया था।

 

आईपीएल में पहले भी हुआ है ऐसा

इस टूर्नामेंट में ये कोई पहला मौका नहीं जब किसी टीम ने 50 से ज़्यादा रन की ओपनिंग साझेदारी की हो और उसके बावजूद उनकी टीम ऑल आउट हो गई हो। आईपीएल के इतिहास में ये छठा ऐसा मौका रहा जब पचास से ज़्यादा रन की ओपनिंग साझेदारी के बाद पूरी टीम ही सिमट गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रवीन्द्र जडेजा का झलका दर्द, कहा- वन-डे टीम में शामिल होने के लिए इतने दिनों किया इंतजार

दुबई। अपने वापसी मैच में ही चार विकेट लेकर