जापान में मूसलाधार बारिश का कहर जारी, बाढ़ में अब तक 112 लोगों की हुई मौत

कुराशिकी। जापान में पिछले कई दिनों से जारी मूसलाधार बारिश से बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं में सोमवार तक मरने वालों की संख्या 112 हो गई और अभी कई लोग लापता हैं। बचावकर्ता लापता लोगों को बचाने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 1983 के बाद जापान की सबसे बुरी बाढ़ आपदा से निपटने के लिए अपनी विदेश यात्रा रद्द कर दी है। इस आपदा से लाखों लोग अपने घरों से बेघर होने को मजबूर हो गए हैं।जापान में मूसलाधार बारिश का कहर जारी, बाढ़ में अब तक 112 लोगों की हुई मौत

अधिकारियों ने कहा कि अभी तक आर्थिक नुकसान का पूरा ब्योरा नहीं मिल पाया है। पश्चिमी जापान में सोमवार को हालांकि बारिश थम गई, आसमान साफ हो गया है और तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला गया है जिससे बिजली और पानी आपूर्ति पर असर पड़ा है और संबंधित क्षेत्रों में तेज गर्मी का खतरा उत्पन्न हो गया है।

मिहारा निवासी यूमेको मत्सुई ने कहा कि हम लोग स्नान नहीं कर सकते, शौचालय दुरुस्त नहीं है और हमारा खाद्य भंडार कम होता जा रहा है। वह गत शनिवार से बगैर पानी के रह रही हैं। आपातकालीन जलापूर्ति स्टेशन में नर्सरी स्कूल कार्यकर्ता 23 वर्षीय एक कर्मी ने कहा कि बोतलों का पानी या चाय किसी भी सुविधा केंद्रों या अन्य दुकानों में उपलब्ध नहीं हो पा रही है।

ऊर्जा कंपनियों ने बताया कि करीब 11 हजार 200 घरों में बिजली आपूर्ति बंद पड़ी हुई है जबकि हजारों घरों में जलापूर्ति नहीं हो पा रही है। राष्ट्रीय टीवी एनएचके के मुताबिक  मृतकों की संख्या कम से कम 112 हो गई है और बाढ़ की वजह से लाखों लोग बेघर हो गये हैं। टीवी रिपोर्ट में बताया सोमवार को नौ साल एक बच्चा मृत पाया गया और 78 लोग लापता पाए गए। इससे पूर्व 2004 में तूफान के कारण सबसे अधिक 98 लोगों की मौत हो गई थी।

सत्तारूढ़ पार्टी के अधिकारी ने बताया प्रधानमंत्री आबे ने आपदा को देखते हुए चार देशों बेल्जियम, फ्रांस, सऊदी अरब और मिस्र की यात्रा रद्द कर दी है। माकादा मोटर कॉर्प को सोमवार को हिरोशिमा में अपने प्रधान कार्यालय को बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा, बाढ़ से कई उद्योग परिचालन प्रभावित हुए हैं।

दहात्सु कंपनी ने शुक्रवार को अपने चार संयंत्रों को बंद कर दिया, कंपनी ने कहा कि वह सोमवार को दूसरी शाम की शिफ्ट चलाएगी। इलेक्ट्रोनिक्स का सामान बनाने वाली कंपनी पैनासोनिक कंपनी के पहली मंजिल में बाढ़ का पानी घुस जाने के बाद कंपनी में अपने पहले संयंत्र में कामकाज बंद कर दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ढाका कैफे हमला: 2 साल बाद 8 आतंकियों के खिलाफ अब चार्जशीट दायर

ढाका: बांग्लादेश में पुलिस ने 2016 के ढाका