निजी क्लीनिक पर छापे में सामने आई चौंकाने वाली बात, भारी मात्रा में मिलीं गर्भपात की दवाएं

- in दिल्ली, राज्य

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संजय कॉलोनी, सेक्टर 23 के पल्स पॉली क्लीनिक पर छापेमारी कर भारी मात्रा में गर्भपात की कई दवाएं बरामद कीं। उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजीव भगत के नेतृत्व में हुई छापेमारी के दौरान क्लीनिक का संचालक अब्दुल कादिर चिकित्सा संबंधी कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाया।

निजी क्लीनिक पर छापे में सामने आई चौंकाने वाली बात, भारी मात्रा में मिलीं गर्भपात की दवाएं

संजय कॉलोनी में पॉली क्लीनिक की ओर से एक रिक्शा चालक माइक से टीकाकरण का प्रचार कर रहा था और फ्री कैंप के नाम पर लोगों को क्लीनिक में आने को जागरूक कर रहा था। इसी दौरान इस क्षेत्र में उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजीव भगत भी 25 अप्रैल से चल रहे टीकाकरण अभियान के चलते दौरे पर थे। उन्होंने जब पल्स पॉली क्लीनिक की ओर से रिक्शा के माध्यम से प्री कैंप का प्रचार सुना तो इसकी पड़ताल की। कोई भी संस्था मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की अनुमति बिना कहीं भी टीकाकरण अभियान नहीं चला सकती।

डॉ. संजीव भगत ने जब पल्स पॉली क्लीनिक में जाकर जांच की तो पता चला कि उनके पास टीकाकरण और कैंप की कोई अनुमति ही नहीं है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जानकारी दी गई तो उन्हीं के आदेश पर डॉ. संजीव भगत के साथ औषधि नियंत्रण अधिकारी कृष्ण कुमार तथा वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. मान सिंह को टीम में शामिल किया गया।

दिल्ली: तापमान में गिरावट के बाद भी नहीं मिली राहत, गर्मी ने किया परेशान

डॉ. संजीव भगत ने बताया कि क्लीनिक संचालक के खिलाफ एमटीपी यानी मेडिकल ट्रमिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने क्लीनिक संचालक अब्दुल कादिर को गिरफ्तार कर लिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ