कासगंज: घोड़ी चढ़ेगा दलित दूल्हा, सवर्णों के खौफ से प्रशासन ने बदलवाया रास्ता

उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के निजामपुर में दलित युवक की बारात निकालने का फार्मूला तय हो गया है. दलित समुदाय के युवक संजय कुमार 20 अप्रैल को होने वाली अपनी शादी के दौरान घोड़ी से बारात निकालना चाहते थे. पुलिस सवर्ण समुदाय के खौफ से इसकी अनुमति नहीं दे रही थी क्योंकि इस गांव में आजतक एक भी दलित दूल्हा बारात में घोड़ी पर चढ़कर नहीं आया है. सवर्ण समुदाय के लोग दलित युवक के घोड़ी पर बारात निकालने के खिलाफ थे. लेकिन अब जिला प्रशासन की मध्यस्थता के चलते दोनों पक्षों में समझौता हो गया है. इसके बाद अब घुमावदार रास्ते वाले रूट से होकर संजय की बारात गुजरेगी.

20 अप्रैल को बारात

यूपी के हाथरस जिले के संजय कुमार की शादी 20 अप्रैल को कासगंज के निजामपुर में शीतल के साथ होनी है. इसके लिए संजय कुमार ने स्थानीय पुलिस से संपर्क कर बारात निकालने की अनुमति मांगी थी, लेकिन पुलिस ने अनुमति देने से मना कर दिया. पुलिस ने कहा कि वह इलाका उच्च जाति के लोगों का है, दलित के वहां बारात निकाले जाने से वहां हिंसा हो सकती है.

आरोप लगने के बाद पिता व चाचा पर विधायक के खास लोगों ने कराये छह मुकदमे

समझौते का मॉडल

अब जिला प्रशासन की मध्यस्थता के चलते समझौता हो गया है, जिसके बाद दलित युवक संजय जाटव बारात लेकर 20 अप्रैल को निजामपुर आएगा. समझौते के तहत एक नक्शा पास किया गया है, जिस रास्ते से बारात होकर गुजरेगी. इस रास्ते को नक्शे में पीले रंग से दिखाया गया है. इसके अलावा बारात चढ़ाने को लेकर कुछ नियम-शर्तें तय की गई हैं, जिन्हें दोनों पक्षों ने मान लिया है.

 

बारात का रोडमैप

प्रशासन के समझौते के बाद दलित युवक की बारात का जनवासा गांव के बाहर कुतुबपुर जाने वाले मुख्यमार्ग पर धर्मवीर के खेत में रहेगा. बारात जनवासा से प्रस्थान कर कुतुबपुर-निजामपुर रोड से गांव के तिराहे से होते हुए प्राइमरी पाठशाला के सामने से, महेश चौहान के घर से सामने से, सरेंद्र चौहान के घर पास पश्चिम दिशा में सत्यपाल के घर तक जाएगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्वच्छ्ता अभियान में जूट के बैग बांट रहे डॉ.भरतराज सिंह

एसएमएस, लखनऊ के वैज्ञानिक की सराहनीय पहल लखनऊ