7 साल में हुआ इतना बड़ा घोटाला, 22700 करोड़ से ज्यादा ले भागे देश के अरबपति

पीएनबी में हुए महाघोटाले की चर्चा हर तरफ है. बैंकिंग सिस्टम हिल चुका है. सरकार भी मामले को सुलझाने की कोशिश कर रही है. राजनीति भी हो रही है लेकिन, देश का एक और अरबपति बैंकों को पैसा लेकर फरार है. यह पहली बार नहीं है जब बैंकों को इतना बड़ा नुकसान हुआ है. यह पहली नहीं है जब कोई अरबपति पैसा लेकर भागा है. सरकार भले ही बैंकिंग सिस्टम को मजबूत बनाने का दावा करे. लेकिन, पिछले 7 साल में देश के कई अरबपति बैंकों का 22743 करोड़ रुपए लेकर भाग चुके हैं. इसमें कोई एक बैंक शामिल नहीं है. बल्कि देश के सभी बैंकों को नुकसान हुआ है. 

7 साल में हुआ इतना बड़ा घोटाला, 22700 करोड़ से ज्यादा ले भागे देश के अरबपति

स्टडी में हुआ खुलासा
बैंकों में हुए घोटाले को लेकर आईआईएम बंग्लुरु में एक स्टडी की गई. स्टडी में सामने आया है कि 2012 से 2016 के बीच देश के सरकारी बैंकों के कुल 227.43 अरब रुपए डूब चुके हैं. अकेले 2017 में बैंकों को 179 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है.

25800 से ज्यादा धोखाधड़ी के मामले
खुद सूचना एंव तकनीकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के आंकड़ों का हवाला देते हुए संसद को बताया था कि 1 जनवरी से 21 दिसंबर 2017 तक 179 करोड़ रुपए के बैंक फर्जीवाड़े के 25,800 से ज्यादा मामले सामने आए. इन फर्जीवाड़ों को क्रेडिट/डेबिट कार्ड्स और इंटरनेट बैंकिंग के जरिए अंजाम दिया गया था.

PNB घोटालाः नीरव मोदी के कई ठिकानों पर छापेमारी, जानिए अब तक की कार्रवाई

बैंकों के कर्मचारी रहे शामिल
मार्च 2017 में आरबीआई ने जो आंकड़े जारी किए, उनके मुताबिक वित्त वर्ष 2016-17 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के 64 कर्मचारी, एचडीएफसी बैंक के 49 कर्मचारी, ऐक्सिस बैंक के 35 कर्मचारी की भूमिका इन फर्जी ट्रांजैक्शंस में पाई गई. अप्रैल से दिसंबर 2016 के बीच 177.50 अरब रुपए के फर्जीवाड़े के 3,870 मामले दर्ज करवाए गए. इन फर्जीवाड़ों में निजी और सरकारी बैंकों के 450 कर्मचारी शामिल पाए गए.

किस बैंक में कितना फ्रॉड

  • आईसीआईसीआई बैंक से 1 लाख रुपए से ज्यादा की रकम के 455 फर्जी ट्रांजैक्शन पकड़े गए.
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के 429 फर्जी ट्रांजैक्शन पकड़े गए
  • स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक के 244 फर्जी ट्रांजैक्शन पकड़े गए
  • एचडीएफसी बैंक के 237 फर्जी ट्रांजैक्शन सामने आए

2011 में क्या हुआ
सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) को पता चला कि बैंक ऑफ महाराष्ट्र, सेंट्रल बैंक, ऑरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और आईडीबीआई में 10 हजार जाली खाते खोले गए और 1.5 अरब रुपए मूल्य का लोन दे दिया गया.

2014 में क्या हुआ

  • मुंबई पुलिस ने 7 अरब रुपए के फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) फ्रॉड में सरकारी बैंकों के कुछ अधिकारियों के खिलाफ नौ एफआईआर दर्ज की थी. 
  • इलेक्ट्रोथर्म इंडिया नाम की कंपनी ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 4.36 अरब रुपए का चूना लगाया. 
  • कोलकाता के उद्योगपति बिपिन वोहरा ने फर्जी दस्तावेजों के सहारे 1.4 अरब रुपए का लोन लेकर कथित तौर पर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया से ठगी कर ली. 
  • सिंडिकेट बैंक के पूर्व चेयरमैन और एमडी एस के जैन द्वारा रिश्वत लेकर 80 अरब रुपए का लोन देने का मामला.

2015 में क्या हुआ

  • जैन इन्फ्राप्रॉजेक्ट्स के कर्मचारियों ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के साथ कथित तौर पर 2.12 अरब रुपए के फर्जीवाड़े को अंजाम दिया. 
  • विभिन्न बैंकों के कर्मचारियों ने फॉरन एक्सचेंज स्कैम में 60 अरब रुपए का फर्जीवाड़ा किया. इसमें नकली हांग-कांग कॉरपोरेशन का भी सहारा लिया गया.

2016 में क्या हुआ
चार लोगों ने सिंडिकेट बैंक में 386 अकाउंट्स खुलवाकर 10 अरब रुपए का फर्जीवाड़ा किया. बैंक को चूना लगाने के लिए उन लोगों ने जाली चेक, लेटर ऑफ क्रेडिट्स (लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग्स) और एलआईसी पॉलिसीज का सहारा लिया. 

2017 में क्या हुआ

  • सीबीआई ने आईडीबीआई बैंक का 9.5 अरब रुपए का लोन वापस नहीं करने के आरोप में यूनाइटेड ब्रूअरीज के पूर्व चेयरमैन विजय माल्या और 10 अन्य लोगों के खिलाफ आरोप पत्र तैयार किया. 
  • सीबीआई ने 11.61 अरब रुपए की दोषपूर्ण हानि के आरोप में पांच सरकारी बैंकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की और डेक्कन क्रॉनिकल होल्डिंग्स के खिलाफ 6 चार्जशीट दायर किए. 
  • सीबीआई ने 20 बैंकों को 22.23 अरब रुपए का नुकसान पहुंचाने के आरोप में कोलकाता के नामी-गिरामी कारोबारी नीलेश पारेख को गिरफ्तार किया. 
  • सीबीआई दो सरकारी बैंकों को 2.9 अरब रुपए का नुकसान पहुंचाने के आरोप में अभिजीत ग्रुप के प्रमोटर्स और कैनरा बैंक के पूर्व डीजीएम को गिरफ्तार किया. 
  • सीबीआई ने 8.36 अरब रुपए मूल्य के कथित घोटाला मामले में बैंक ऑफ महाराष्ट्र के पूर्व जोनल हेड और सूरत की एक प्राइवेट लॉजिस्टिक्स कंपनी के डायरेक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया. 

2018 में क्या हुआ

  • प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आंध्र बैंक के डायरेक्टर को 5 अरब रुपए के कथित बैंक फ्रॉड के आरोप में गिरफ्तार किया. इस फर्जीवाड़े में गुजरात की एक फार्मा कंपनी भी शामिल है.
  • पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ 11400 करोड़ रुपए के लेन-देन के मामले में सीबीआई को शिकायतें दी.
 
Loading...

Check Also

अरुण जेटली ने कहा- राहुल अपनी असफल राजनीति के कारण राफेल सौदे पर विवाद खड़ा करने को मजबूर

अरुण जेटली ने कहा- राहुल अपनी असफल राजनीति के कारण राफेल सौदे पर विवाद खड़ा करने को मजबूर

राहुल गांधी पर हमला तेज करते हुये वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com