श्रीदेवी की कुंडली जैसी है इस भारतीय पार्टी की किस्मत, जो होने वाला है उसे जानकर हैरान रह जाएंगे

आपको जानकर शायद हैरानी होगी की भारत में जिस तरह से हर व्यक्ति की अलग कुंडली बनायीं जाती है उसी तरह से देश के हर राजनीती पार्टी की भी उसके गठन के बाद कुंडली बनायीं जाती है. आज हम आपको देश के एक ऐसे राजनीतिक पार्टी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी कुंडली बिल्कुल फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की कुंडली जैसी है. तो आईये जानते है की आखिर कौन सी है ये राजनितिक पार्टी और क्या लिखा था श्रीदेवी की कुंडली में.

श्रीदेवी के जीवन जैसा योग है इस राजनीतिक पार्टी की कुंडली में

आपको बता दें की बीते दिनों श्रीदेवी की मृत्यु के बाद रतलाम के प्रसिद्द ज्योतिषशास्त्र पंडित अभिषेक जोशी ने उसकी कुंडली देखी थी और उन्होनें बीते दिनों ये खुलासा किया है हुबहू फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की तरह ही एक भारतीय राजनीतिक पार्टी की भी कुंडली है. अब इस बात से तो सभी भली भांति वाकिफ हैं की फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की मौत किन हालातों में हुई थी. अब सबसे पहले श्रीदेवी की कुंडली के बारे में आपको बताते हैं, बटे दें की श्रीदेवी का जन्म 13 अगस्त 1963 को हुआ था जब इनके जन्म के सभी अक्षरों को जोड़ कर देखा गया तो मालूम चला की श्रीदेवी की कुंडली में राहू का वास था. ज्योतिषशास्त्र की माने तो ऐसे लोग जिनकी कुंडली में राहू का वास होता है उनके जीवन में हमेशा उथल पुथल मची रहती है. श्रीदेवी का जीवन भी कुछ ऐसा ही था, इसके अलावा श्रीदेवी का जनम कर्क लग्न में हुआ था जिसका स्वामी चंद्रमा होता है और इसका असर व्यक्ति के जीवन में ये पड़ता है की उनकी जिंदगी में धन दौलत की कोई कमी नहीं रहती है. जीवन में सफलता का बोलवाला रहता है जो की श्रीदेवी की जीवन में भी था उन्हीं भी काफी लोकप्रियता और सफलता हासिल हुई थी. इसके अलावा चंद्रमा के 12 वें भाव में रहू की उपस्थित होने की वजह से ऐसे लोगों के दुश्मन भी काफी प्रबल होते हैं और उन्हें दोस्तों के भेष में दुश्मन भी मिलते हैं. जहाँ तक श्रीदेवी की मृत्यु का सवाल है तो इनके लिए अष्टमेश का अंतर और लग्नेश का प्र्यांतर ही इनके जीवन के लिए खतरा बन गया.

अब जाने इस राजनीतिक पार्टी के बारे में

आपको बता दें की आज हम आपको जिस राजनीतिक पार्टी के बारे में बताने जा रहे हैं वो और कोई नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी है. बता दें की कांग्रेस पार्टी का गठन इंदिरा गाँधी ने 28 दिसम्बर 1985 को मुंबई में किया था, जिस वक़्त पार्टी का गठन किया गया था उस वक़्त इस पार्टी की कुंडली में मीन लग्न का प्रवेश था और सूर्योदय के मान के अनुसार वृश्चिक लग्न आकाशगंगा में चल रहा था जिस वजह से पार्टी के दशम भाव में शनि और चन्द्र, बुध और राहू का योग एकादश भाव में था. इस वजह से इस पार्टी के गठन के बाद इसका काफी प्रबल प्रभाव देश की राजनीती पर पड़ा और इस पार्टी का वर्चास्व देश में सबसे ज्यादा था. अब जब श्रीदेवी और कांग्रेस पार्टी की कुंडली को मिलाया गया तो लगभग दोनों की कुंडली सामान ही है. आने वाले 2019 में कांग्रेस पार्टी के साथ वैसा ही कुछ होने का अंदेशा है जैसा की बीते दिनों दुबई में श्रीदेवी के साथ हुआ था यानि की इस पार्टी का अस्तित्व इस वक़्त खतरे में है.

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी