सनसनीखेज खुलासा: 93% लोगों ने कहा- केजरीवाल को पार्टी से करो बाहर

नई दिल्ली। अपनी नीतियों और फैसलों से आए दिन विवादों में आ रहे दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर कराए गए सर्वे में चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। ऑनलाइन कराए गए इस सर्वे में 93 फीसद लोगों ने कहा कि केजरीवाल को पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए। सर्वे में 11 हजार से अधिक लोगों ने भाग लिया। इसे पूर्व मंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) नेता कपिल मिश्रा ने कराया था। इस सर्वे को नाम दिया गया था सीधे जनता की राय।

सनसनीखेज खुलासा: 93% लोगों ने कहा- केजरीवाल को पार्टी से करो बाहर इसमें कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर पूछा था कि क्या झूठ बोलने और वोटर्स तथा कार्यकताओं के साथ चीटिंग करने पर केजरीवाल को आम आदमी पार्टी से बाहर निकाल देना चाहिए? इस सर्वे को शनिवार सुबह 10 बजे से शुरू किया गया था जो शाम को पांच बजे तक चला।

इस सर्वे के मकसद के बारे में पूछने पर कपिल मिश्रा ने कहा कि लोग किस कदर केजरीवाल से नाराज हैं सर्वे कराकर यह बात सामने लाना है। अब केजरीवाल की गलत नीतियों के कारण पार्टी नीचे जा चुकी है। लोग केजरीवाल का खेल समझ चुके हैं। बहुत जल्द यह खेल समाप्त होने वाला है।

यहां पर बता दें कि करावल नगर से AAP विधायक कपिल मिश्रा ने इस ऑनलाइन सर्वे के नतीजों को अपने ट्वीटर हैंडल पर भी टैग किया है।

बता दें कि आम आदमी पार्टी (आप)के संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा नशा तस्करी के आरोपों को लेकर शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के महासचिव व पंजाब के पूर्व राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगने का मामला और गरमा गया है। वहीं, केजरीवाल के वकील के शनिवार को वायरल हुए वीडियो ने पंजाब के आप नेताओं का गुस्सा और बढ़ा दिया है। इस वीडियो में सारा ठीकरा आप की पंजाब टीम पर फोड़ा गया है। उधर, केजरीवाल ने रविवार को पंजाब के विधायकों की दिल्ली में बैठक बुलाई है, लेकिन पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा ने कहा है कि वह बैठक में शामिल नहीं होंगे।

मजीठिया द्वारा केजरीवाल पर किए गए मानहानि केस की पैरवी करने वाले वकील के वीडियो में केजरीवाल की तरफ से सफाई पेश करने की कोशिश है कि अदालत में मामला जाने के बाद उनका समर्थन पंजाब की टीम ने नहीं किया। पेशी के दौरान कई बार आपत्तिजनक टिप्पणियों का सामना करना पड़ा।

पंजाब की टीम की तरफ से न तो कानूनी सहायता उपलब्ध कराई गई और न केस लड़ने के लिए अच्छे वकीलों का इंतजाम किया गया। उन्होंने जब पंजाब के एक बड़े नेता से स्थानीय वकील करने को कहा तो बताया गया कि वकील तीन लाख रुपये मांग रहा है। केस को कमजोर किया जा रहा था। इससे परेशान होकर केजरीवाल ने माफी मांग ली।

आप पंजाब के सूत्र बताते हैं कि वीडियो में केजरीवाल की तरफ से केस की पैरवी करने वाले वकील ऋषि हैं। वहीं, भुलत्थ से आप विधायक व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा ने केजरीवाल के आरोपों को निराधार व आपत्तिजनक बताया है। उन्होंने कहा कि अब ऐसा आरोप लगाना तुच्छ मानसिकता का परिचायक है।

इस बीच, आप के तलवंडी साबो, रूपनगर और फरीदकोट से विधायक बलजिंदर कौर, अमरजीत सिंह व कुलतार सिंह ने शनिवार को दिल्ली में केजरीवाल के घर पर उनसे मुलाकात कर माफी मांगने का कारण जानने की कोशिश की। बताया जाता है कि तीनों विधायक मुलाकात के बाद संतुष्ट नजर नहीं आए।

You may also like

पेट्रोल-डीजल को सस्ता करने के लिए GST हुआ तय, बस ये काम बाकी

तेल की ऊंची कीमतों के बीच बिहार के