वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भी नरेंद्र मोदी के बचपन पर आधारित एक कॉमिक्स आई थी, जिसका नाम बाल नरेंद्र था. उस कड़ी में अब उनके बचपन पर आधारित फिल्म आ रही है. जानकारों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी का बचपन कुछ ऐसा है, जो हर किसी को भावनात्मक रूप से उनसे जोड़ता है. प्रधानमंत्री खुद कई बार अपने भाषण में अपने बचपन की परिस्थितियों का जिक्र कर चुके हैं.