विज्ञान की भी वाट लग गयी जानते-जानते, AC बंद करते ही पसीने से क्यों भीग जाती हैं देवी मां…

- in ज़रा-हटके, धर्म

आपको जानकर हैरानी होगी कि A.C (Air Conditioner) सिर्फ आपकी ही गर्मी को दूर नहीं भगाता है बल्कि दुनिया में एक ऐसा मंदिर भी है जहां की देवी मां को भी A.C के बिना पसीना छूटने लगता है।

जबलपुर (Jabalpur, MP) की है देवी

जबलपुर (MP, Jabalpur) के सदर इलाके में काली माता का एक ऐसा मंदिर है जहां पर 550 साल पुरानी देवी मां की प्रतिमा को बहुत गर्मी लगती है और उन्‍हें पसीना भी आता है। देवी मां को गर्मी ना लगे और उन्‍हें पसीना (Sweat) ना आए, इस कारण वश मंदिर में A.C भी लगवाया गया है।

गर्मी नहीं है बिलकुल बर्दाश्‍त

गोंडवाना शासनकाल में जबलपुर के सदर इलाके में स्‍थापित इस मंदिर की मां काली को गर्मी बिलकुल भी बर्दाश्‍त नहीं है। एसी को बंद करते ही देवी मां की मूर्ति से पसीने निकलने लगते हैं। कई बार इस रहस्‍य को जानने की कोशिश की गई लेकिन किसी को भी इसमें सफलता नहीं मिली।

 

विज्ञान के लिए भी ये घटना किसी चमत्‍कार से कम नहीं है। मंदिर ट्रस्‍ट के पुजारियों का कहना है कि रानी दुर्गावती के शासनकाल में काली माता की इस प्रतिमा को मदन महल पहाड़ी में निर्मित मंदिर में स्‍थापित किया जाना था और इसके लिए मां शारदा की मूर्ति के साथ काली माता की प्रतिमा को लेकर काफिला जैसे ही मंडला से जबलपुर सदर इलाके में पहुंचा, काली माता की मूर्ति वाली बैलगाड़ी अचानक रूक गई।

उसी रात काफिले में एक बच्‍ची को सपने में मां काली के दर्शन हुए और उन्‍होंने बताया कि उनकी मूर्ति को तालाब के बीचोंबीच स्‍थापित कर दिया जाए। बस तभी से ये मूर्ति आज तक यहां विराजमान है।

इस बारे में मंदिर के पुजारियों का कहना है कि मंदिर परिसर में रात के समय किसी भी व्‍यक्‍ति को सोने या रूकने की अनुमति नहीं है। आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि मौसम चाहे कोई भी हो मंदिर में एसी बंद नहीं होता। सर्दी के मौसम में भी एसी बंद होते ही माता को पसीना आने लगता है।

मां काली के इस चमत्‍कार को देखने के लिए भक्‍तों की भारी भीड़ लगी रहती है। यहां पर स्‍थापित मां काली की मूर्ति अद्भुत और चमत्‍कारी है।

इस मंदिर के बारे में जानकर ऐसा लगता है कि हिंदू धर्म कितना चमत्‍कारिक और अनोखा है। हिंदू धर्म के देवी-देवताओं के चमत्‍कार पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। किसी मंदिर में स्‍वयं श्रीकृष्‍ण रास रचाने आते हैं तो किसी मंदिर में मां काली की मूर्ति के पसीने निकलते हैं। वाकई में ये सब बातें हमें सोचने पर मजबूर कर देती हैं कि क्‍या सच में हम इंसानों के बीच ईश्‍वरीय शक्‍ति मौजूद है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आज है साल का सबसे बड़ा सोमवार जो आज से खोल देगा इन 4 राशियों के बंद किस्मत के ताले

दोस्तों आपने एक कहावत तो सुनी ही होगी