Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > पूर्वाचल के यात्रियों को रेलवे ने दी ये बड़ी राहत

पूर्वाचल के यात्रियों को रेलवे ने दी ये बड़ी राहत

गोरखपुर : ईद पर्व पर यात्रियों को सहूलियत प्रदान करने के उद्देश्य से रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर से हावड़ा और गोरखपुर के रास्ते नौतनवां से हावड़ा के बीच एक-एक जोड़ी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की घोषणा की है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव के अनुसार 03033/03034 नंबर की स्पेशल ट्रेन नौतनवां से हावड़ा के बीच चलेगी। इस ट्रेन में स्लीपर के 9, एसी थर्ड टियर के 4 और टू टियर के 2 कोच लगेंगे। वहीं 03031/03032 नंबर की स्पेशल गोरखपुर से हावड़ा के बीच चलाई जाएगी। जिसमें जनरल के 3, स्लीपर के 11, एसी थर्ड टियर के 4, टू टियर के 1 व प्रथम सह द्वितीय श्रेणी के एक कोच लगाए जाएंगे।पूर्वाचल के यात्रियों को रेलवे ने दी ये बड़ी राहत

– 03033 नंबर की स्पेशल ट्रेन हावड़ा से 12 जून को दिन में 3 बजे से रवाना होगी। यह ट्रेन दुर्गापुर, आसनसोल, चितरंजन, जसीडीह, पटना, पाटलिपुत्र, छपरा भटनी और देवरिया होते हुए दूसरे दिन सुबह 7.35 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। यहां से चलकर आनंदनगर होते हुए 9.35 बजे नौतनवां पहुंचेगी।

– 03334 नंबर की स्पेशल ट्रेन नौतनवां से 13 जून को शाम 5.30 बजे से रवाना होगी। यह ट्रेन आनंदनगर होते हुए रात 7.45 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। यहां से देवरिया सदर, भटनी, छपरा, पाटलिपुत्र, पटना, जसीडीह, आसनसोल और दुर्गापुर होते हुए दूसरे दिन दोपहर 11.30 बजे हावड़ा पहुंचेगी।

– 03031 नंबर की स्पेशल ट्रेन 13 जून को हावड़ा से रात 11.55 बजे से रवाना होगी। यह ट्रेन दुर्गापुर, आसनसोल, जसीडीह, बरौनी, हाजीपुर, छपरा, सिवान, भटनी और देवरिया होते हुए दूसरे दिन शाम 5.30 बजे गोरखपुर पहुंचेगी।

– 03032 नंबर की स्पेशल ट्रेन 14 जून को गोरखपुर से रात 7.05 बजे से रवाना होगी। यह ट्रेन भटनी, सिवान, छपरा, सोनपुर, हाजीपुर, बरौनी, जसीडीह, आसनसोल और दुर्गापुर होते हुए दूसरे दिन दोपहर 12.40 बजे हावड़ा पहुंचेगी।

गोरखपुर-एलटीटी में लगेंगे अतिरिक्त कोच

गोरखपुर : मुंबई की ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची के यात्रियों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए रेल प्रशासन ने दो जोड़ी एक्सप्रेस ट्रेनों में विभिन्न स्टेशनों और तिथियों से अतिरिक्त कोच लगाने का निर्णय लिया है। 15065 गोरखपुर-पनवेल एक्सप्रेस में 3 व 5 जून को गोरखपुर से तथा 15066 पनवेल-गोरखपुर एक्सप्रेस में 4 व 6 जून को पनवेल से और 15063 गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस में 4 जून को गोरखपुर से तथा 15064 एलटीटी-गोरखपुर एक्सप्रेस में 6 जून को शयनयान श्रेणी के एक-एक कोच लगाए जाएंगे।

वातानुकूलित होंगे रेलवे के रनिंग रूम

गोरखपुर : रेलवे बोर्ड अध्यक्ष अश्वनी लोहानी ने पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय स्टेशन गोरखपुर का गहन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने यात्रियों और कर्मचारियों को मिलने वाली सुविधाओं का हाल जाना। संरक्षा, सुरक्षा और समय पालन पर विशेष जोर देते हुए साफ-सफाई को और बेहतर बनाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। कहा, महाप्रबंधक और प्रमुख विभागाध्यक्ष शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई सुनिश्चित करें।

प्लेटफार्म नंबर एक स्थित कैब-वे से प्रवेश करने के बाद रेलवे बोर्ड अध्यक्ष सीधे रनिंग रूम और क्रू लॉबी गए। विश्रामालय और खानपान व्यवस्था का अवलोकन किया। विश्राम कर रहे लोको पायलटों और गार्डो से बातचीत कर उनकी समस्याओं को ध्यान से सुना। खानपान की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने मौके पर ही लोको पायलटों और गार्डो को मनपसंद भोजन परोसने के लिए निर्देशित किया। साथ ही कुक को प्रशिक्षण करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि रनिंग रूम के प्रति कोई उदासीनता नहीं चलेगी। उदासीनता बरतने वाले कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करें। लोको पायलट और गार्डो की कमी पर उन्होंने बताया कि भारतीय रेलवे में एक लाख कर्मचारियों की भर्ती की जा रही है। जल्द ही लोको पायलट और गार्डो की भी कमी पूरी हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे में स्थित समस्त रनिंग रूम को वातानुकूलित कर दिया जाएगा। रनिंग रूम में पौधरोपण करने के बाद वह प्लेटफार्म नंबर नौ पर पहुंच गए। प्रसाधन केंद्र, नवनिर्मित हैंगिंग वेटिंग रूम और फूड प्लाजा और मैकेनाइज्ड लाउंड्री का अवलोकन किया। लिफ्ट के जरिये वह प्लेटफार्म नंबर दो पर पहुंचे। आरपीएफ पोस्ट में सुरक्षा प्रणाली का हाल जाना। सीसीटीवी कैमरे के कार्यप्रणाली से भी अवगत हुए। जनआहार को देखते हुए वह एसी लाउंज में पहुंच गए। वहां टिकट जांच कर्मचारियों, रेलवे सुरक्षा बल, गैंगमैन, कीमैन, गेटमैन, ट्रैक मैन, सफाई कर्मचारियों और कुलियों के प्रतिनिधि मंडल से अलग-अलग वार्ता की। उनकी समस्याओं को सुनने के बाद निस्तरण का आश्वासन भी दिया। अंत में कुली विश्रामालय का भी निरीक्षण किया। देर शाम यांत्रिक कारखाना और ललित नारायण मिश्र रेलवे अस्पताल का भी निरीक्षण किया। साफ-सफाई पर रेलवे प्रशासन की पीठ थपथपाई, साथ ही और बेहतर करने के लिए उत्साह भी बढ़ाया। इस मौके पर महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल, मंडल रेल प्रबंधक विजय लक्ष्मी कौशिक और प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर एके सिंह आदि अधिकारी मौजूद थे।

‘लार्ड लारेंस’ के बारे में भी लोगों को बताएं : रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने रेल म्यूजियम को भी देखा। पूर्वोत्तर रेलवे में चलने वाले पहले इंजन लार्ड लारेंस, 0004 वाइपी स्टीम इंजन तथा स्टीम क्रेन के मॉडल को उत्सुकतापूर्वक देखा। फोटो गैलरी में रखे गए दुर्लभ व ज्ञानवर्धक तस्वीरों का भी अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने महत्वपूर्ण सुझाव भी दिया।

सुधार ही सफलता और उन्नति का मूल मंत्र 

रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक, प्रमुख विभागाध्यक्षों और वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि गोरखपुर जंक्शन जैसा स्व<स्हृद्द-क्तञ्जस्>छ, उन्नत सुविधाओं से युक्त और आकर्षक रेलवे स्टेशन शायद ही भारतीय रेलवे में कहीं हो। यहां जैसा सोचा था उससे कहीं और बेहतर कार्य हो रहा है। उन्होंने महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल और उनकी टीम को बधाई दी। साथ ही कहा कि अभी और बेहतर किया जा सकता है। इसके लिए सभी को प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि सुधार ही सफलता एवं उन्नति का मूल मंत्र है। इसके पूर्व महाप्रबंधक ने पावर प्रेजेंटेशन के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे की कार्यप्रणाली, उपलब्धियों एवं भावी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी।

Loading...

Check Also

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए RSS कार्यकर्ता ने दिया अब तक के सबसे बड़े दान

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए RSS कार्यकर्ता ने दिया अब तक के सबसे बड़े दान

प्रतापगढ़ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सह संघ चालक ने अयोध्या मेंराम मंदिर निर्माण के लिए एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com