कर्नाटक: राहुल गांधी के विमान की इमरजैंसी लैंडिंग पर कांग्रेस ने की जांच की मांग

कर्नाटक प्रचार के लिए दौरे पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विमान के कल अचानक तकनीकी खराबी आ गई. इसके बाद विमान की हुबली में इंमरजेंसी लैंडिंग करवानी पड़ी. कांग्रेस ने इस मामले में जांच की मांग करते हुए हुबली थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है. कांग्रेस ने इस मामले की शिकायत नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) से भी की है. डीजीसीए की ओर से जांच का आश्वासन दिया गया है.

घटना को लेकर राहुल गांधी के करीबी कौशल विद्यार्थी ने कर्नाटक के डीजीपी को एक चिट्ठी भी लिखी, विद्यार्थी ने लिखा, ”राहुल जिस विमान में सवार थे, वह एकाएक बायीं तरफ झुक गया और विमान तेजी से नीचे चला गया तथा उसमें काफी कंपन हुई. यह घटना सुबह दस बजकर 45 मिनट पर हुई.”

चिट्ठी में लिखा है, ”मौसम सामान्य था और तेज हवा भी नहीं चल रही थी. विमान के संदिग्ध एवं ठीक से काम नहीं करने से साफ है कि उसमें कंपन होना और उसका नीचे चले जाना स्वभाविक या मौसम संबंधित नहीं था, बल्कि ऐसा किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण हुआ.’’ चिट्ठी के मुताबिक, ”विमान के साथ जानबूझकर की गयी छेड़छाड़ से जुड़े गंभीर सवालों को दरकिनार नहीं किया जा सकता और उनपर ध्यान देने तथा उसकी जांच करने का अनुरोध किया जाता है.’’

ग्वालियर: कमलनाथ के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद जिला कांग्रेस कार्यालय में सन्नाटा

हुबली-धरवाड़ की पुलिस उपायुक्त रेणुका सुकुमार ने कहा, ‘‘हां, हमें विमान में अस्पष्ट गड़बड़ी की शिकायत मिली है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने आईपीसी की धारा 287 (मशीनरी के संबंध में लापरवाही) और 336 (दूसरों के जीवन या व्यक्ति की सुरक्षा को खतरे में डालना) के तहत शिकायत दर्ज कर ली है.’’

रेणुका ने बताया कि कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति (केपीसीसी) के महासचिव शकीर सनादी द्वारा दर्ज करायी गयी शिकायत में विमान के दो पायलटों के नाम शामिल हैं. पत्र में कहा गया, ‘‘यह पता चला है कि विमान का ऑटोपायलट काम नहीं कर रहा था.’’ पत्र के अनुसार विमान तीसरी कोशिश के बाद दिन में करीब 11 बजकर 25 मिनट पर हुबली हवाईअड्डे पर उतरा. इसमें कहा गया, ‘‘विमान के पायलट भी डरे हुए थे और उन्होंने माना कि स्थिति भयावह एवं असामान्य थी.’’

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘राहुल गांधी सुरक्षित लैंड कर गए. आज एक गंभीर हादसा होते – होते रह गया.’’ उन्होंने कहा कि कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक को सौंपी गयी शिकायत में उनसे इस ‘‘गंभीर, भयावह घटना’’ के सभी पहलुओं की और अगर कोई साजिश थी तो उसकी भी जांच करने को कहा गया है.

सुरजेवाला ने कहा कि यह अभूतपूर्व है कि विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) की सुरक्षा से लैस किसी व्यक्ति के विमान में गड़बड़ी हुई. उन्होंने कहा कि घटना के दौरान राहुल शांतचित्त रहे और सहयात्रियों को शांत करने की कोशिश की. सुरजेवाला ने कहा कि घटना की गहन जांच की मांग को लेकर डीजीसीए के पास एक और शिकायत दर्ज करायी गयी है. डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ऑपरेटर ने हमें (डीजीसीए) घटना की जानकारी दी. ऑपरेटर की रिपोर्ट के अनुसार ऑटो पायलट (मोड) में कोई गड़बड़ी थी और पायलट ने उसे मैनुअल (मोड) में डाला एवं विमान को सुरक्षित उतारा.’’

उन्होंने कहा, ”ऑटो पायलट (मोड) बंद करना असामान्य नहीं है. किसी भी अतिविशिष्ट व्यक्ति की उड़ान के लिए डीजीसीए विस्तार से इसकी जांच करता है, हम यहां भी ऐसा ही करेंगे.” गौरतलब है कि राहुल उत्तर कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, कोगादू और मैसुरू जिलों में पार्टी के उम्मीदवारों का प्रचार के लिए दो दिन की यात्रा पर कर्नाटक गए हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

26 सितंबर 2018 का राशिफल और पंचांग: इस नक्षत्र के शुभ योग में इन राशियों होगा सबसे ज्यादा मुनाफा…

आज का पंचांग: 26 सितंबर 2018 दिन-बुधवार ,