राहुल गांधी के बड़े बोल, कहा- 15 मिनट भाषण देने दें पीएम सामने नहीं खड़े हो पाएंगे

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कैश संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने कहा है कि मोदी जी ने देश के बैंकिंग सिस्टम को बर्बाद कर दिया है. इतना ही नहीं राहुल ने पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी को लेकर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि नीरव मोदी 30 हज़ार करोड़ लेकर भाग गया लेकिन मोदी जी ने कुछ नहीं बोला

राहुल गांधी ने आज ट्वीट किया, ”समझो अब नोटबंदी का फरेब, आपका पैसा निरव मोदी की जेब. मोदीजी की क्या ‘माल्या’ माया, नोटबंदी का आतंक दोबारा छाया. देश के ATM सब फिर से खाली, बैंकों की क्या हालत कर डाली.”

राहुल गांधी ने कहा ”पीएम मोदी पार्लियामेंट में खड़े होने से डरते हैं. चाहे राफेल का मामला हो या नीरव मोदी का मामला हो पीएम मोदी अगर पार्लियामेंट में 15 मिनट का भाषण दे दें तो वो सामने खड़े नहीं हो पाएंगे.”

राहुल ने आगे कहा, ”मोदी पूरे देश का चक्कर काट रहे हैं लेकिन लोकसभा में भाषण देने के लिए उन्हें 15 मिनट का समय नहीं दे रहे हैं.” उन्होंने नोटबंदी की याद दिलाते हुए कहा, मोदी जी ने देश की जनता को लाइन में लगाया. सबकी जेब से 500 रुपए और 1000 रुपए का नोट छीना और नीरव मोदी की जेब में डाल दिया, लेकिन इसपर एक शब्द नहीं बोलते.”

इस वजह से 2019 में BJP के लिए हो सकती हैं वोटों की बारिश!

राहुल ने बड़े आरोप लगाते हुए कहा, ”राफेल में सीधे तौर पर चोरी हुई है.” मोदी सरकार की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि एक उद्योगपति मित्र को 45,000 करोड़ रुपए दिए हैं. इस डील को एचएएल से छीना, बेंगलुरु से रोज़गार छीना लेकिन पीएम इसपर भी एक शब्द नहीं कहते.

राहुल ने पीएम को बैंकिंग घोटाले से जोड़ते हुए कहा कि वह नीरव मोदी को नाम से पहचानते हैं, मेहुल चोकसी को भी नाम से पहचानते हैं और दोनों को नाम से बुलाते हैं. पीएम मोदी के अच्छे दिनों के वादे की याद दिलाते हुए राहुल ने कहा कि वादा तो आम लोगों से किया था, लेकिन नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे 15 लोगों के अच्छे दिए आ गए. वहीं उन्होंने कहा कि जनता, किसान, मज़दूर और गरीबों के बुरे दिन आ गए.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी