अभी तक एशियाई खेलों के एकल फाइनल में कोई भारतीय नहीं पहुंचा था . भारत ने पहली बार एशियाई खेलों में बैडमिंटन में दो एकल पदक जीते हैं . इससे पहले साइना को भी सेमीफाइनल में ताइ ने ही हराया था.  सिंधू इससे पहले गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल में साइना से हारी थी जबकि विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में उसे स्पेन की कैरोलिना मारिन ने मात दी थी . वो इस साल इंडिया ओपन फाइनल में बेवेन झांग से और थाईलैंड ओपन में नोजोमी ओकुहारा से हारी थी.

सिंधू की ताइ के हाथों यह लगातार छठी हार थी. ताइ ने शुरू ही से बढत बना ली थी . उनके दमदार रिटर्न का सिंधू के पास कोई जवाब नहीं था . दोनों के बीच पहला गेम 16 मिनट में खत्म हो गया. दूसरे गेम में सिंधू ने उसे बेसलाइन की ओर धकेलने की कोशिश की लेकिन सहज गलतियों से कई अंक गंवाये और मुकाबला हार गईं.