प्रिंस हैरी और मैगन मार्कल ने रचाई शादी, एक दूसरे से कहा- आखिरी सांस तक रहेंगे साथ

काफी समय से पूरी दुनिया की निगाहें ब्रिटेन की रॉयल वेडिंग पर टिकी थी. आज इंतजार खत्म हुआ और ब्रिटेन के प्रिंस हैरी ने अमेरिकी अभिनेत्री मेगन मार्कल के साथ शादी रचा ली. शादी समारोह विंडसर कैसल स्थित भव्य सेंट जॉर्ज चैपल में हुआ. इस रॉयल जोड़ी ने पूरी दुनिया से पहुंचे 600 मेहमानों की मौजूदगी में विवाह के वचन लेते हुए एक दूसरे को अंगूठी पहनाई.

क्यों खास रही ये वेडिंग

ये शादी खास इसलिए भी रही क्योंकि आज इसमें दो परंपराए टूटीं. शादी के दौरान जो वादें किए जाते हैं उनसे में एक है ‘आज्ञा का पालन करना’. मार्कल ने शादी के दौरान हैरी से ये वादा नहीं किया.

वहीं प्रिंस हैरी ने भी एक परंपरा तोड़ी. इससे पहले इस शाही परिवार में अंगूठी पहनने की कोई परंपरा नहीं थी इस बार ऐसा हुआ. प्रिंस ने शादी की अंगूठी पहनने का फैसला कर राजपरिवार की पुरानी परंपरा भी तोड़ दी. इन वजहों से इस शादी को ‘मॉडर्न मैरिज’ कहा जा रहा है.

बता दें कि हैरी (33) और मेगन (36) सोलहवां शाही जोड़ा हैं जिन्होंने 1863 से विंडसर कैसल में अपनी शादी की है.

मार्कल के पिता की भूमिका प्रिंस चार्ल्स ने निभाई

जब मेगन ने प्रिंस चार्ल्स के साथ चैपल में प्रवेश किया तो हैरी मुस्कराते दिखे. चार्ल्स ने शादी समारोह में मेगन के पिता की भूमिका निभाई क्योंकि अमेरिकी अदाकारा के पिता थॉमस मार्कल सीनियर बीमारी के चलते इस शादी में शामिल नहीं हो पाए. मेगन के परिवार से एकमात्र सदस्य के रूप में उनकी मां डोरिया रागलैंड शादी में शामिल होने पहुंचीं.

ब्राइडमेट्स बनीं प्रिंसेज शेरलॉट

ब्राइड्समेड्स के रूप में चुनी गईं छह छोटी लड़कियों में प्रिंस हैरी की भतीजी एवं तीन वर्षीय प्रिंसेज शेरलॉट भी शामिल थीं. पेजब्वॉय के रूप में चुने गए कुल 10 बच्चों में शेरलॉट के बड़े भाई एवं चार वर्षीय प्रिंस जॉर्ज शामिल थे.

कहां और कैसे हुई शादी

न्यूयॉर्क: पुलिस में शामिल हुई पहली पगड़ीधारी सिख महिला

ये शादी विंडसर कैसल स्थित सेंट जॉर्ज चैपल में हुई जिसमें पारंपरिक वचनों का इस्तेमाल करने की जगह शाही जोड़ी ने मैरिज सर्विस कॉमन वर्शिप (2000) से शब्दों का चयन किया. मैरिज सर्विस में ‘‘तू’’ की जगह ‘‘तुम’’ शब्द वाली समकालिक भाषा का इस्तेमाल किया गया है.

कैंटरबरी के आर्कबिशप ने प्रिंस हैरी और मेगन मार्कल को पति-पत्नी घोषित किया. समारोह स्थल के बाहर मौजूद भीड़ ने बड़े पर्दों पर शादी समारोह देखा. महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और प्रिंस फिलिप तथा राजपरिवार के अन्य सदस्य भी इस क्षण के साक्षी बने. विवाह समारोह डीन ऑफ विंडसर ने संपन्न कराया तथा कैंटरबरी के आर्कबिशप एवं एंग्लिकन चर्च के आध्यात्मिक प्रमुख जस्टिन वेल्बी ने विवाह वचनों के आदान-प्रदान की रस्म पूरी कराई. एक अश्वेत अमेरिकी बिशप माइकल ब्रूस करी ने इस अवसर पर विवाह संबोधन दिया.

शादी को तब आधिकारिक रूप मिला जब जस्टिन वेल्बी ने यह पढ़ा, ‘‘ईश्वर की मौजूदगी में और एकत्र लोगों के समक्ष हैरी तथा मेगन ने शादी के लिए अपनी सहमति दी है और एक-दूसरे को विवाह वचन दिए हैं. उन्होंने एक-दूसरे का हाथ थामकर और एक-दूसरे को अंगूठी प्रदान कर एवं एक-दूसरे से अंगूठी प्राप्त कर अपनी शादी घोषित की है. इसलिए मैं उनके पति-पत्नी होने की घोषणा करता हूं.’’

ये वादे किए

उन्होंने एक-दूसरे से वादा किया , ‘‘अच्छे समय में, बुरे समय में, अमीरी में, गरीबी में, सुख में, दुख में, प्यार में, जीवन की आखिरी सांस तक हम एक-दूसरे का हिस्सा हैं. ’’

कौन-कौन पहुंचा

मेहमानों में मेगन की दोस्त और बॉलीवुड अदाकारा प्रियंका चोपड़ा और जॉर्ज एवं अमाल क्लूनी, डेविड और विक्टोरिया बेकहम तथा सर एल्टन जॉन जैसी अन्य हस्तियां मौजूद थीं.

इससे पहले भी कई बार टूटी है परंपरा

पिछली कई शाही शादियों में ऐसा हुआ है जब दुल्हनों ने अपने पतियों की आज्ञा का पालन करने का वादा नहीं किया. वर्ष 2011 में डचेज ऑफ कैम्ब्रिज ने भी यह वादा नहीं किया था. 1981 में हैरी की मां एवं प्रिंसेज ऑफ वेल्स डायना ने भी यह वादा नहीं किया था जब उनकी प्रिंस आफ वेल्स से शादी हुई थी. सबसे पहले डायना ने राजपरिवार की परंपरा को तोड़ा था और उन्होंने शादी के समय अपने पति प्रिंस चार्ल्स की ‘‘आज्ञा का पालन’’ करने का वादा नहीं किया था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

China के सबसे ‘शक्तिशाली’ व्‍यक्ति की चेतावनी, ट्रेड वार से होगी सबसे ज्‍यादा बर्बादी

चीन के सबसे अमीर और शक्तिशाली व्‍यक्ति जैक मा ने