काशी में फ्रांसीसी राष्ट्रपति का मंत्रोच्चार के साथ स्वागत करेंगे 121 पुजारी

- in राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के स्वागत के लिए काशी सजकर कर तैयार हो चुकी है. वाराणसी के 121 पुजारी मंत्रोच्चारण करके फ्रांस के राष्ट्रपति का स्वागत करेंगे. फ्रांसीसी राष्ट्रपति आज बनारस की गलियों और यहां की आध्यात्मिकता से रूबरू होंगे.

सजकर तैयार है काशी, मैक्रों को लेकर आएंगे मोदी

बनारस अपने सांसद और देश के प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति का इंतजार बड़ी शिद्दत से कर रहा है. बनारस की गलियां और सड़कें सज कर तैयार हो चुकी हैं. प्रधानमंत्री और फ्रांस के राष्ट्रपति जिस रास्ते से होकर गुजरेंगे, उन रास्तों पर रंग-बिरंगे गुब्बारे और फूल सजाए गए हैं. वहीं अस्सी से लेकर दशाश्वमेध घाट के बीच पड़ने वाले सभी घाटों को सजाया गया है. बनारस वासियों की बात करें, तो उनको इस बात की उम्मीद है कि उनके सांसद और फ्रांस के राष्ट्रपति की दोस्ती और उनका वाराणसी दौरा बनारस के विकास को नया आयाम देगा.

कई करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास

प्रधानमंत्री मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में 55 करोड़ 72 लाख रुपये लागत की परियोजनाओं का लोकार्पण और 718.87 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे. प्रधानमंत्री वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल जाएंगे और वहां की हस्तकला कारीगरी का जायजा लेंगे. इसके बाद पीएम वाराणसी के डीएलडब्ल्यू में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. साथ ही मंडुआडीह रेलवे स्टेशन जाएंगे और वहां से पटना जाने वाली नई ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे.

इन परियोजनाओं का होगा लोकार्पण

1. पुलिस लाइन में एसटीएफ भवन

2. जक्खिनी और डीरेका में कॉलेज की दो-दो कक्षाओं का लोकार्पण

3. मंडुआडीह आरओबी

4. लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल का उच्चीकरण

5. राजा तालाब तहसील भवन

6. गंगा दर्शन गेस्ट हाउस

7. कालीपुर पेयजल योजना

इन योजनाओं का होगा शिलान्यास

1. फुलवरिया और शिवपुर के बीच फोर लेन सड़क

2. इसी सड़क पर वरुणा नदी पर पुल

3. कोनिया में वरुणा नदी पर पुल

4. आशापुर रेलवे क्रासिंग पर पुल

5. आठ नई सड़कों का निर्माण

6. इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर

7. आशापुर में आरओबी

सम्बंधित समाचार

You may also like

ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश लाएगी केंद्र सरकार, कैबिनेट ने दी मंजूरी

नई दिल्ली : देश में तीन तलाक के बढ़ते हुए