मॉरीशस की राष्ट्रपति शॉपिंग के कारण पद से देंगी इस्तीफा

शॉपिंग विवाद में बुरी तरह उलझी मॉरीशस की राष्ट्रपति अमीना गुरीब फकीम  एनजीओ के पैसों से शॉपिंग करने के आरोप में जल्द ही अपने पद से इस्तीफा देंगी. इसकी पुष्टि खुद मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनॉथ ने की है. एक तरफ जहाँ भारत में नेता गरीबों का करोड़ो खाकर डकार तक नहीं लेते, वहीं मॉरीशस का यह फैसला ऐतिहासिक है.

केमिस्ट्री की प्रोफेसर रहीं गुरीब फकीम को साल 2015 मॉरीशस की पहली महिला राष्ट्रपति नियुक्त किया गया था. गुरीब फकीम पर आरोप है कि उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय एनजीओ के द्वारा जारी किए गए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल अपनी पर्सनल शॉपिंग के लिए किया. एक स्थानीय अखबार ने हाल ही में खुलासा किया था कि राष्ट्रपति ने इटली और दुबई में शॉपिंग के लिए प्लैनेट अर्थ इंस्टिट्यूट के क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया. यह ऑर्गेनाइजेशन शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्कॉलरशिप प्रदान करता है.

चीन के शी जिनपिंग का आजीवन राष्ट्रपति बनना लगभग तय

हालांकि राष्ट्रपति ने शॉपिंग पर लगे इन आरोपों से इनकार किया है. गौरतलब है कि इसी ऑर्गनाइजेशन में मॉरीशस की राष्ट्रपति फकीम अनपेड डायरेक्टर रह चुकीं हैं. अख़बारों की रिपोर्ट के अनुसार इस कार्ड को राष्ट्रपति के नाम पर शुरु किए गए एक डॉक्टरेट प्रोग्राम को प्रमोट करने के लिए जारी किया गया है. 

You may also like

यूनाइटेड नेशन्स (UN) की बैठक में भाग लेने के लिए न्यूयोर्क शहर पहुँची सुषमा स्वराज

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर