PM मोदी ने साधा निशाना, कहा- कांग्रेस को बस अपना सुख दिखता है, जनता का दर्द नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मलोट में हुई किसान कल्याण रैली में आक्रामक तेवर दिखाए और किसानी मुद्दों की आड़ में कांग्रेस पर तंज कसे। किसान कल्याण रैली में किसानों मुद्दा छाया रहा। रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत शिअद-भाजपा के दिग्गज नेताओं ने धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के मुद्दे को भुनाने की कोशिश की। वहीं विभिन्न किसानी मुद्दों की आड़ में कांग्रेस को घेरा।

रैली के दौरान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्वेत मलिक ने प्रधानमंत्री मोदी को युग पुरुष व सन्यासी बताते हुए किसानों की 70 वर्ष पुरानी मांग के पूरी करने पर पीएम का आभार जताया। वहीं कांग्रेसियों पर खूब कटाक्ष किए।

श्वेत मलिक बोले कि मोदी भाई ने अपना जीवन देश को समर्पित कर दिया। मोदी किसानों के सच्चे हमदर्द हैं। वह किसानों का दर्द जानते हैं। इसलिए उन्होंने किसानों को ये नायाब तोहफा दिया। जबकि कांग्रेस ने आज तक किसानों की इस मांग को अनदेखा किया। राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने भी इस मुद्दे पर जमकर राजनीति की। सुखबीर बोले कि गांधी परिवार ने 70 वर्षों तक राज किया।

कांग्रेस 55 वर्षों तक केंद्र में काबिज रही है और इनके प्रधानमंत्री रहे हैं, मगर इसके बावजूद कांग्रेसी किसानों का दर्द न समझ सके। किसानों की मांगों के लिए सिर्फ पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, चौधरी देवी लाल व चौधरी चरण सिंह ने ही संघर्ष किया है। केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों की एमएसपी की मांग पूरी कर किसान हिमायती होने का सबूत दिया है। प्रधानमंत्री मोदी जानते हैं कि अगर किसानों को सही समर्थन मूल्य मिलेगा तो ही किसान खुशहाल होंगे। किसान खुशहाल होंगे तो देश खुशहाल होगा। 

500 करोड़ रुपये आएंगे पंजाब सरकार के खजाने में 

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तो प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद करने भी नहीं आए। जबकि केंद्र सरकार द्वारा एमएसपी में वृद्धि करने से सीधे-सीधे 500 करोड़ रुपये पंजाब सरकार के खजाने में आएगा। केंद्र ने तो पंजाब सरकार का खाली खजाना भरा है। ज्यादा जोर-जोर से बोलने की वजह से सुखबीर बादल का गला भी बैठ गया।

अपने भाषण के समापन पर सुखबीर ने प्रधानमंत्री से 84 दंगों के कत्लेआम के लिए इंसाफ मांगा। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने भाषण की शुरुआत भारत माता के जयकारे व जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल जयकारा लगवाकर की।

साथ ही रैली में आए किसानों का अभिनंदन किया। पूर्व मुख्यमंत्री बादल ने मोदी को लोक नायक बताया। बादल ने अपने संबोधन में मंच पर विराजमान सभी दिग्गज नेताओं का  अभिनंदन किया, मगर हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर का नाम लेना भूल गए। जबकि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में सबसे पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री का नाम बोलते हुए उनका अभिनंदन किया। बादल ने कहा ये रैली आज तक की अन्य रैलियों से कहीं ज्यादा अहमियत रखती है, क्योंकि केंद्र ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र सरकार के इस एलान से किसानों व मजदूरों को ही नहीं, बल्कि हर वर्ग को लाभ मिलेगा।  

वो पगड़ी सेट करते रहे, पीएम ने एक पल में उतारी

रैली के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मलोट आने पर अभिनंदन स्वरूप पंजाबियों की शान केसरी रंग की पगड़ी पहनाई। यही नहीं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल व एक अन्य नेता सिर पर रखी पगड़ी को अच्छे से सैट करते रहे। मगर प्रधानमंत्री मोदी ने पगड़ी उतारने में एक पल भी न गंवाते हुए उसे साइड में अपने सिक्योरिटी दल के कर्मचारी को पकड़ा दिया और अपने बाल दुरुस्त करने लगे प्रधानमंत्री के तुरंत पगड़ी उतारने से पंडाल में ये बात चर्चा का विषय बन गई। बादल परिवार के अलावा सबसे पहले पांच किसानों ने प्रधानमंत्री मोदी को किसानी से संबंधित ट्रैक्टर के मॉडल भेंट कर सम्मान किया।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पुरे देश में क्राइम में UP टॉप पर और 2 पर है गुजरात का नाम

देशभर में हो रहे सांप्रदायिक तनावों, भीड़ द्वारा