पाक के नए राष्ट्रपति अल्वी का भारत कनेक्शन, पिता थे पंडित नेहरू के डेंटिस्ट

डॉ. आरिफ अल्वी (69) मंगलवार को पाकिस्तान के 13वें राष्ट्रपति चुने गए। अल्वी नौ सितंबर को शपथ लेंगे। दांतों के डॉक्टर रहे अल्वी को प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी माना जाता है। निवर्तमान राष्ट्रपति ममनून हुसैन का पांच साल का कार्यकाल आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है। पाक के नए राष्ट्रपति का भारत से भी गहरा कनेक्शन है।

उनके भारत कनेक्शन में दिलचस्प बात यह है कि डॉ. आरिफ के पिता स्व. हबीब उर रहमान इलाही अल्वी भी दांतों के डॉक्टर थे और भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू के डेंटिस्ट थे।

छात्र जीवन से ही सक्रिय राजनीति में

इमरान खान की पार्टी पीटीआई का संविधान लिखने वालों में एक नाम डॉक्‍टर अल्‍वी का भी है। डॉक्‍टर अल्‍वी जो पीटीआई की ओर से राष्‍ट्रपति पद के लिए नामित हैं, उनके पास राजनीति का पिछले पांच दशकों का अनुभव है। उन्‍होंने लाहौर के मॉन्‍टमॉरेंसी कॉलेज ऑफ डेंटिस्‍ट्री से डेंटिस्‍ट की पढ़ाई पूरी की है।

कॉलेज के समय ही वह छात्र राजनीति में सक्रिय हो गए थे। साल 1969 में जब पाकिस्‍तान में जनरल अयूब खान की सेना का शासन था, डॉक्‍टर अल्‍वी राजनीति में सक्रिय हो गए। उनकी पार्टी के नेताओं की मानें तो अल्‍वी उन चुनिंदा नेताओं में से हैं, जिन्‍होंने देश के लोकतंत्र के लिए लड़ाई लड़ी है।

मैं पूरे देश और सभी पार्टियों का राष्ट्रपति हूं: अल्वी

राष्ट्रपति चुने जाने के बाद अल्वी ने इमरान खान का शुक्रिया जताया। अपने भाषण में उन्होंने कहा, आज से मैं केवल अपनी पार्टी नहीं बल्कि मैं पूरे देश और सभी पार्टियों का राष्ट्रपति हूं। सभी पार्टियों का मुझ पर पूरा अधिकार है।” उन्होंने अपने शपथ ग्रहण में विपक्षी सहित अन्य पार्टियों को बुलाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि उनका राजनीतिक संघर्ष 1967 में अयूब खान के समय शुरू हुआ था। मुझे लगता है कि तब से देश में बहुत जागरूकता आई है। उन्होंने संविधान के अनुसार चलने की भी बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अमेरिका के मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी मैदान में

अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि