एक बार फिर तमिलनाडु में तोड़ी गई पेरियार की प्रतिमा

- in राष्ट्रीय

समाज सुधारक और द्रविड़ आंदोलन के प्रतीक ई. वी. रामास्वामी ”पेरियार” की एक प्रतिमा आज पास के गांव में क्षतिग्रस्त अवस्था में मिली. पुलिस ने बताया कि अज्ञात लोगों नेकिसी औजार से प्रतिमा की गर्दन तोड़ दी थी और उसे गोलचक्कर के पास रख दिया था.

सूचना मिलने पर पुलिस और राजस्व विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंच गये. उन्होंने कहा कि सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई की और प्रतिमा को सुबह आठ बजे तक उसके वास्वित रूप में स्थापित कर दिया गया था.

SSC पेपर लीक मामला: SC में याचिकाकर्ता ने CBI जांच पर भरोसा जताया

द्रविड़ कड़गम नेता के. वीरमणि ने 2013 में प्रतिमा का अनावरण किया था जिसकी देखरेख पार्टी की जिला इकाई करती थी. क्षेत्र में कोई अप्रिय घटना होने से रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है. पुलिस ने बताया कि इस संबंध में मुकदमा दर्ज किया है.

गौरतलब है कि इससे पहले भी ऐसी घटना हो चुकी है. तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में मार्च के शुरुआत में ई वी रामासामी पेरियार की मूर्ति कथित रूप से क्षतिग्रस्त कर दी गई थी. इससे पहले एक बीजेपी नेता एच राजा ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘‘ लेनिन कौन है. लेनिन और भारत के बीच क्या संबंध है? भारत और कम्युनिस्टों के बीच क्या संबंध है? आज त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति हटाई गई और कल तमिलनाडु में ई वी रामासामी की मूर्ति होगी.’’हालांकि आलोचना के बाद इस पोस्ट हटा दिया गया था.

 

You may also like

बलात्कार मामलों में अब होगी त्वरित कार्रवाई, पुलिस को मिलेगी यह विशेष किट

देश में पुलिस थानों को बलात्कार के मामलों की जांच