मिसाइल परीक्षण न करने के वादे पर कायम रहेगा उत्तर कोरिया: ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उम्मीद जताई है कि बातचीत होने तक उत्तर कोरिया मिसाइल परीक्षण न करने के अपने वादे पर कायम रहेगा। साथ ही उन्होंने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के साथ आगामी बातचीत को शानदार सफलता मिलने की भविष्यवाणी की। गौरतलब है कि ट्रंप ने बातचीत के लिए किम के न्योते को स्वीकार कर शुक्रवार को पूरी दुनिया को भौचक कर दिया था।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने रविवार को ट्वीट कर कहा, “उत्तर कोरिया ने 28 नवंबर 2017 के बाद से मिसाइल परीक्षण नहीं किया और हमारी बातचीत होने तक ऐसा नहीं करने का वादा किया है। उम्मीद है वह अपने वादे पर कायम रहेगा।” इसके बाद संवाददाताओं से बातचीत में ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया संबंधी उनकी नीति को शानदार सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमें काफी लोगों का समर्थन है। उम्मीद है, उत्तर कोरिया अच्छा करेगा। समस्या केवल यही है कि वह इस बीच कोई मिसाइल न दागे। एक दिन पहले ही ह्वाइट हाउस ने कहा था कि बातचीत के लिए किए गए वादे को लेकर उत्तर कोरिया अगर ठोस कदम नहीं उठाएगा तो ट्रंप और किम की वार्ता नहीं होगी। कई सारे ट्वीट कर ट्रंप ने उत्तर कोरिया से बातचीत को लेकर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से फोन पर हुई बातचीत की जानकारी दी।

लश्कर में आपसी कलह की हुई शुरुआत, सह-संस्थापक ने बनाया नया आतंकी संगठन

इस बीच उत्तर कोरिया पर ट्रंप के फैसले को लेकर अमेरिकी मीडिया में संदेह जारी है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे जुआ बताया है। वाशिंगटन पोस्ट ने संपादकीय में लिखा है कि ट्रंप का उत्तर कोरिया से बातचीत का फैसला सही है, लेकिन उन्हें इसके लिए योजना बनानी होगी। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के पूर्व प्रवक्ता जॉन किर्बी ने सीएनएन वेबसाइट पर लेख में कहा कि ट्रंप उत्तर कोरिया मामले में अपने नए कूटनीतिक प्रयास में सफल हो पाएंगे, इसकी गारंटी नहीं है।

 

 

You may also like

इस वजह से मालदीव में ब्रिटिश कालीन मूर्तियों को तोड़ा गया कुल्हाड़ी से..

मालदीव के निवर्तमान राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन द्वारा ब्रिटिश