ओईएफ ने तैयार की जवानों को बचाने के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट, जाने इसकी खासियत

- in कश्मीर

कानपुर ओईएफ ने सेना के जवानों के लिए हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट तैयार की है। मात्र 9.5 किलो ग्राम भार वाली इस जैकेट को मिश्र धातु निगम (मिथानी) से बनाया गया है। इसे परीक्षण के लिए बीएसएफ को दिया गया था। 

सूत्रों ने बताया कि पांच मार्च को ये जैकेट डीजी बीएसएफ को दी गई थी। इस दौरान इसका चार चरणों में परीक्षण होना था। इसमें सामने और पीछे के अलावा शरीर के नाजुक अंगों (जैसे ह्रदय, फेफड़े, किडनी आदि) को टारगेट करके मारी गई गोली पर परीक्षण किया जा चुका है। इन तीन में ये सफल रही है। अब सिर्फ साइड गार्ड का परीक्षण बाकी है। 
ऐसे बनाई गई
जैकेट में तीन स्तर पर सॉफ्ट और हार्ड आर्म प्लेटें लगाई गई है। ये शरीर के अंगों (ह्रदय, फेफड़े आदि) को अधिक सुरक्षित रखते हैं। इसमें कार्बन नैनोटेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया है। इससे इसका भार 9.5 किलो हो गया है।

आमतौर पर पूरी बुलेट प्रूफ जैकेट का भार 10-13 किलो से अधिक होता है। दावा किया गया है कि इस जैकेट को कारबाइन, एके 47 और एके 56 की गोली भी नहीं भेद पाएगी।

Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 35-ए पर राजनीतिक मचा बवाल

सर्वोच्च न्यायालय ने अनुच्छेद 35-ए पर सुनवाई बेशक