नीरव मोदी के घोटाले से इस विदेशी बैंक को भी लगा झटका

- in राष्ट्रीय

नीरव मोदी, मेहुल चौकसी जालसाजी मामले से एकमात्र विदेशी बैंक इंटेसा सानपाओला एसपीए प्रभावित हुआ है। बैंक की हांगकांग शाखा ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) द्वारा जारी फारेन लेटर ऑफ क्रेडिट (एफएलसी) पर गीतांजलि जेम्स को पैसा मुहैया कराया था।

इटली के बैंक की हांगकांग शाखा ने मेहुल चौकसी की अगुआई वाली गीतांजलि समूह की कंपनी को 2,200,011 डॉलर (करीब 14.08 करोड़ रुपए) उपलब्ध कराया था। इस राशि का भुगतान मार्च 19 में किया जाना है। चोकसी जनवरी में भारत से फरार हो चुका है।

पीएनबी द्वारा जारी एफएलसी या लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के आधार पर गीतांजली समूह ने भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं से कुल 75 करोड़ डॉलर से ज्यादा (लगभग 4,886.72 रुपए) लिए। यह ब्योरा सीबीआई की एफआईआर में दिया गया है।

अब एक और घोटाला, रोटोमैक के मालिक ने लगाई 3000 करोड़ की चपत

 

केंद्रीय जांच एजेंसी ने गीतांजली समूह के खिलाफ 15 फरवरी को मामला दर्ज किया था। इंटेसा सनपाओला ने बिना किसी नाम के केवल ब्रांच का स्विफ्ट कोड का उल्लेख किया है।

पैसे के वायर ट्रांसफर में स्विफ्ट प्रणाली से बैंक की पहचान की जाती है। नीरव मोदी कंपनीज द्वारा पीएनबी के साथ जालसाजी कर उगाही गई 11300 करोड़ रुपए की शेष राशि के लिए एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। सीबीआई ने 280.7 करोड़ रुपए की जालसाजी का पहला मामला 29 जनवरी को दर्ज किया था।

You may also like

#बड़ी खुशखबरी: भारत सरकार की इस नई योजना से जुड़ कर हर महीने कमाए 90 हजार रु

आज से देश भर में आयुष्मान भारत योजना