मुंबई: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं ने मुंबई- अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए अधिगृहित की जाने वाली जमीन की नपाई के काम को आज रोक दिया. राज्य के लोक निर्माण विभाग द्वारा पड़ोसी जिले ठाणे के शिल गांव के शिलफाटा इलाके में भूमि नापने का कार्य किया जा रहा था.मुंबई में MNS के कार्यकर्ताओं ने बुलेट ट्रेन का किया विरोध, जमीन नापने की रुकी प्रक्रिया

अधिकारियों ने बताया कि मनसे कार्यकर्ताओं ने कई बार प्रक्रिया को बाधित किया और भारी पुलिस बल मौजूद होने के बाद भी विरोध करने वाली भीड़ की संख्या बढ़ती गई जिससे दोपहर में काम को रोकना पड़ा. मनसे के ठाणे जिले के अध्यक्ष अविनाश जाधव ने कहा कि हम इस नपाई कार्यक्रम का विरोध जारी रखेंगे क्योंकि हमें नौकरियां चाहिए न कि कोई बुलेट ट्रेन. इस पूरे काम को रोकने के लिए अधिकारियों को मजबूर करने के लिए हम अचानक होने वाले विरोध प्रदर्शन भी करेंगे.

मनसे प्रमुख राज ठाकरे कई अरब डॉलर वाली इस परियोजना का खुलकर विरोध जताते रहे हैं और रैलियों के दौरान इस गलियारे के मार्ग के आस- पास रहने वाले किसानों से अपनी जमीनें नहीं देने की भी अपील की है. इस 508 किलोमीटर की मुंबई- अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना में 1,08,000 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान किया गया है. इस लागत का 81 प्रतिशत हिस्सा जापान की सरकार से मिलने वाला ऋण पूरा करेगा.