CM नीतीश के आवास पर JDU की बैठक, दिल्‍ली में रामविलास की अमित शाह से मुलाकात

पटना। उपचुनावों में लगातार अपने उम्‍मीदवारों की हार के बाद एनडीए में शामिल दलों के नेताओं की टिप्‍पनियां काफी तल्‍ख हो गई। जोकीहाट में जदयू उम्‍मीद्वार की हार के बाद जुबानी जंग तेज हो गए। घटक दल यह कहने लगे कि तालमेल की कमी हो गई है। गठबंधन को अपनी रणनीतियों पर विचार करना होगा। इसे देखते हुए सात जून को पटना के ज्ञान भवन में एनडीए महासम्मेलन बुलाया गया है। लेकिन इससे पहले ही जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार पार्टी कुछ वरिष्ठ नेताओं से अपने आवास पर मंत्रणा कर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर लोजपा अध्‍यक्ष रामविलास पासवान ने दिल्‍ली में भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। बैठक और मुलाकात दोनों कई मायनों में महत्‍वपूर्ण है। CM नीतीश के आवास पर JDU की बैठक, दिल्‍ली में रामविलास की अमित शाह से मुलाकात

जदयू की बैठक में राष्‍ट्रीय महासचिव केसी त्‍यागी और राज्‍यसभा सांसद पवन वर्मा भी शामिल हुए हैं। सूत्रों ने बताया कि प्रदेश की राजनीतिक स्थिति पर समीक्षा के साथ-साथ पार्टी की आगे की रणनीति पर चर्चा होगी। पार्टी ने बिहार के बाहर विस्तार का अभियान आरंभ किया है। इस पर भी चर्चा होगी। समीक्षा के दायरे में जोकीहाट उपचुनाव भी रहेगा। सूत्रों ने इस बैठक को रूटीन मामला करार देते हुए कहा कि पार्टी अपनी ऐसी आंतरिक बैठकें समय-समय पर आयोजित करती रहती है। इस संबंध में पूछे जाने पर राज्‍यसभा सांसद पवन वर्मा ने कहा कि यह एक सामान्‍य बैठक है। पार्टी की नीतियों और रणनीतियों पर चर्चा होगी।

बता दें कि इधर उपचुनाव में एनडीए का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। जोकीहाट चुनाव में जदयू की हार के बाद पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा एनडीए का नेतृत्व कर रही है। लिहाजा भाजपा को अपनी रणनीति में बदलाव करना पड़ेगा। जब जमीन पर काम नहीं होगा तो हमें हमारे एजेंडे पर पुनर्विचार करना होगा। नये सिरे से अपनी रणनीति बनानी होगी। संवादहीनता ठीक नहीं है।

वहीं, दूसरी ओर एनडीए के घटक दल रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को कहा कि एनडीए में तालमेल की कमी है। चुनाव का समय आने से पहले यह तय हो कि कौन सी पार्टी अगले चुनाव में कितनी सीटों पर लड़ेगी। उपचुनाव में एनडीए उम्‍मदवारों को लगातार मिल रही हार पर चिंता जताते हुए कहा कि कहीं ना कहीं कुछ तो कमी है। ऐसी स्थिति में एनडीए की बैठक बुलाना बहुत जरूरी है। आपस में बातचीत होनी चाहिये।

इस बीच एनडीए में बढ़ती तल्‍ख टिप्‍पनियों के बीच भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह से लोजपा अध्‍यक्ष रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान ने मुलाकात की। करीब 40 मिनट की मुलाकात के बाद रामविलास ने बताया कि हमने मुख्‍य रूप से तीन मुद्दों पर बात की। पहला मुद्दा रहा एससी-एसटी एक्‍ट के लिए ऑर्डिनेंस लाने का, दूसरा प्रमोशन में आरक्षण और तीसरा बिहार को विशेष राज्‍य के दर्जे को लेकर। सकारात्‍मक चर्चा हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ