लखनऊ में फिर फैली तेंदुए की दहशत, हमले में युवक हुआ जख्मी

राजधानी लखनऊ में फिर से तेंदुए की दहशत फैल गई है। इस बार शहीद पथ से सटे आशियाना थाना क्षेत्र के औरंगाबाद खालसा गांव में तेंदुए ने एक युवक पर हमला कर दिया। जख्मी युवक का इलाज कराया गया है। वहीं, वन विभाग की लापरवाही का आलम ये है कि सूचना के तीन घंटे बाद भी टीम मौके पर नहीं पहुंची। हालांकि, ग्रामीणों की सुरक्षा के मद्देनजर चार थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है।

औरंगाबाद खालसा निवासी कुलदीप (19) गुरुवार सुबह 7 बजे के करीब अपने घर के सामने ही खेत में पानी लगा रहा था। इसी दौरान तेंदुए ने उस पर झपट्टा मार दिया। कुलदीप के शोर मचाने पर उसकी मां कुंता देवी लाठी लेकर दौड़ीं। हांका लगाने पर तेंदुआ कुंता देवी के ऊपर से छलांग लगाकर कुछ दूरी पर सरसों के खेत में जा छिपा।

शोर सुनकर ग्रामीण भी लाठी-डंडे लेकर दौड़ पड़े। खेत घेरकर तेंदुए को बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन वह नहीं निकला। सूचना पर आशियाना थाने की पुलिस टीम पहुंची। इसके बाद ग्रामीणों की सुरक्षा को देखते हुए तीन और थाने पीजीआई, सरोजिनीनगर और कृष्णानगर की पुलिस भी बुला लगी गई।

ग्रामीणों ने वन विभाग की टीम को भी सूचना दी लेकिन 10 बजे तक टीम नहीं पहुंची। मौके पर मौजूद सीओ सरोजिनीनगर लाल प्रताप ने कहा कि तेंदुए के हमले में कुलदीप के कंधे और पीठ पर जख्म हुआ है। कुंता देवी के खेत में तेंदुए के पगचिह्न मिले हैं। ग्रामीणों की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें खेत से दूर कर दिया गया है। वन विभाग की टीम कुछ ही देर में पहुंच रही है।

बीते सप्ताह यहां देखा गया था तेंदुआ

इससे पहले बीते सप्ताह चिनहट इलाके में इंदिरा नहर के पास स्थित गोयल अपार्टमेंट और उससे सटे इलाकों में तेंदुए के दिखने से दहशत फैली थी। तेंदुए के हमले में एक युवक भी जख्मी हुआ था।

वहीं, करीब एक महीने पहले लखनऊ के ठाकुरगंज स्थित विशेष बच्चों के स्कूल संत फ्रांसिस में तेंदुआ घुस आया था। करीब आठ घंटे बाद लखनऊ जू की रैपिड रेस्क्यू टीम तेंदुए को ट्रैंकुलाइज कर काबू में कर पाई थी।

You may also like

‘नमोस्तुते माँ गोमती’ के जयघोष से गूंजा मनकामेश्वर उपवन घाट

विश्वकल्याण कामना के साथ की गई आदि माँ