रोज सामने आ रही रेप की घटनाएं

यूपी में रोज सामने आ रही रेप की घटनाओं के बीच घटना से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि शोहदों के हौसले किस तरह से बुलंद हैं. एक महिला इंस्पेक्टर को ही जब तंग किया जा रहा है तो ऐसे में आम लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवाल उठना लाजिमी है. 24 अप्रैल को ही छेड़छाड़ और रेप के मामले में कार्रवाई नहीं होने से झांसी और लखनऊ में महिलाएं सुसाइड की कोशिश कर चुकी हैं. झांसी में एक महिला ने रेप की शिकायत की, इस पर पुलिस ने उसे बदचलन कह दिया. इससे तंग आई महिला ने एसएसपी ऑफिस में खुद को आग लगाने की कोशिश की. इसी तरह लखनऊ में विधानसभा के सामने सुसाइड करने पहुंची युवती छेड़छाड़ से परेशान थी और पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही थी. उन्नाव और कठुआ जैसे रेप के मामले के बाद हाल में 12 साल की बच्ची के साथ रेप करने वालों को फांसी की सजा का प्रावधान किया गया है, लेकिन इसके बाद भी शोहदों के हौसले बुलंद हैं.