KCR ने दिया इस्तीफा भंग हुई विधानसभा, 105 उम्मीदवारों की लिस्ट भी जारी की

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) ने गुरुवार को मंत्रिमंडल की आपात बैठक बुलाई जिसमें राज्य विधानसभा को भंग करने की सिफारिश की गई. बैठक के बाद मुख्यमंत्री केसीआर ने राज्यपाल इएसएल नरसिम्हन से मुलाकात कर विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव सौंपा जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. वहीं राज्यपाल से मुलाकात के बाद केसीआर ने प्रेस कांफ्रेंस की जिसमें उन्होंने विधानसभा चुनाव के लिए 105 उम्मीदवारों की सूची भी जारी कर दी.

इस बीच, तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने केसीआर के फैसले की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि केसीआर ने विधानसभा भंग करके अपनी कब्र खोदी है. वह मोदी के एजेंट हैं. हम चुनाव के लिए तैयार हैं.

बता दें कि करीब 15 दिनों से विधानसभा भंग करने और जल्दी चुनाव कराए जाने की अटकलें लगाई जा रही थीं. तेलंगाना विधानसभा का चुनाव अगले साल लोकसभा चुनाव के साथ निर्धारित है, लेकिन सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) दोनों चुनाव अलग-अलग कराए जाने में राजनीतिक लाभ देख रही है. पार्टी को मई 2014 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में राज्य में जीत मिली थी. उसने 119 सदस्यीय विधानसभा में 63 सीटों पर जीत हासिल की थी.

-मुख्यमंत्री ने विधानसभा भंग करने संबंधित प्रस्ताव को राज्यपाल को सौंप दिया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. इसके बाद राज्यपाल ने केसीआर को सरकार का केयरटेकर नियुक्त किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने देशभर के कॉलेजों में ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ का जारी किया निर्देश

देशभर के कॉलेज और विश्वविद्यालयों में 29 सितंबर