जयदेव उनादकट ने तोड़ा 21 साल पुराना रिकॉर्ड, अकेले झटके 10 विकेट

सौराष्ट्र की टीम ने कप्तान जयदेव उनादकट की शानदार गेंदबाजी के दम पर लगातार दूसरी बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में जगह पक्की की है। सेमीफाइनल में उनादकट ने कुल 10 विकेट निकाले और टीम की जीत पक्की की। इस सीजन में अब तक 65 विकेट लेने वाले उनादकट ने 21 साल पुराना रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

सेमीफाइनल मुकाबले में सौराष्ट्र ने रोमांचक जीत दर्ज की इसमें दूसरी पारी में जयदेव उनादकट के झटके 7 विकेट अहम रहे। इसी के साथ उन्होंने रणजी का 21 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ डाला। अब वो रणजी ट्रॉफी में एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज बन गए हैं। इस सीजन में उनादकट ने कुल 65 विकेट हासिल करते हुए कर्नाटक के डोडा गणेश का रिकॉर्ड को अपने नाम कर लिया।

पढ़ें: महिला टी20 विश्व कप: सेमीफाइनल में भारतीय टीम का इंग्लैंड से महामुकाबला

उनादकट ने तोड़ा 21 साल पुराना रिकॉर्ड

सौराष्ट्र के कप्तान उनादकट ने इस सीजन में कुल 65 विकेट अपने नाम किए हैं। इससे पहले रणजी के किसी एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज डोडा गणेश थे। साल 1998-99 के सीजन में कुल 62 विकेट झटके थे। उनादकट ने अब तक इस 2019-20 के इस सीजन में 9 मैच खेलकर 65 विकेट हासिल किए हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ पर्दशन सेमीफाइनल में देखने को मिला जब दूसरी पारी में 56 रन देकर 7 विकेट हासिल किए।

एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट

रणजी ट्रॉफी के इतिहास में किसी एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड बिहार के गेंदबाज आशुतोष अमन के नाम दर्ज है। पिछले सीजन में उन्होंने कुल 68 विकेट अपने नाम किए थे। उनादकट 65 विकेट लेकर दूसरे नंबर पर आ गए हैं। सौराष्ट्र की टीम फाइनल में पहुंच चुकी है और 4 विकेट लेते ही आशुतोष का रिकॉर्ड भी तोड़ सकते हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 16 =

Back to top button