जसिया में जाट करेंगे महासम्मेलन, फिर आंदोलन का है मूड

- in राज्य, हरियाणा

रोहतक। जाट आरक्षण को लेकर एक बार फिर से जाट आंदोलन के मूड में आ गए हैं। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की जसिया में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक हुई। इसमें समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि सरकार ने जाटों के साथ हुए समझौते को पूरा करने की दिशा में अभी तक  में कुछ नहीं किया है। ऐसे में ए‍क बार फिर आंदोलन शुुरू किया जाएगा। इसकी रूपरेखा 2 जून को तैयार की जाएगी।जसिया में जाट करेंगे महासम्मेलन, फिर आंदोलन का है मूड

जाट नेता यशपाल मलिक ने हरियाणा सरकार पर लगाया समझौते से मुकरने का आरोप

यहां पत्रकारों से बातचीत में मलिक ने कहा कि सरकार के साथ हुए समझौते को लेकर 2 जून को जसिया में महासम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इसमें आगे के आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। उन्‍होंने हरियाणा सरकार पर समझौते से मुकरने का आरोप लगाया।

यशपाल मलिक ने कहा कि जसिया के महासम्मेलन में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, जम्मू कश्मीर, मध्य प्रदेश, राजस्थान सहित अन्य प्रदेशों के लोग शामिल होंगे। इस बार जब तक सरकार मांगे पूरी नहीं करेगी आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने केंद्र सरकार पर पिछड़ा आयोग बिल अटकाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जाट समाज के प्रतिनिधियों को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आरक्षण का आश्वासन दिया था, लेकिन एक साल बीतने के बावजूद सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की।

मलिक ने कहा कि सरकार आरक्षण को लेकर कतई गंभीर नहीं है। अभी तक सरकार ने अपने वादे के अनुसार भी आंदोलन हिंसा के दौरान दर्ज हुए केस भी वापस नहीं लिए हैं। करीब 50 से अधिक केसों को लेकर सरकार चुप बैठी है। प्रदेश के वित्त मंत्री कैप्‍टन अभिमन्‍यु के आवास पर लूटपाट व आगजनी के मामलों में भी युवक जेलों में बंद है।

उन्‍होंने कहा कि जींद में अमित शाह की रैली को लेकर जाटों के तेवरों को देखते हुए सरकार ने वादा किया था कि बाकी सभी मांगों को पूरा कर दिया जाएगा, लेकिन उसने इन पर गंभीरता नहीं दिखाई। इस अवसर पर हरियाणा प्रभारी एडवोकेट अशोक बल्हारा, प्रदेश महासचिव कृष्ण लाल हुड्डा, एडवोकेट नरेश बल्हारा व अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मोदी सरकार को मांझी ने बताया फ्लॉप, दिए 10 में 0 नंबर

पटना। 26 मई को केंद्र की मोदी सरकार