Omg: इस एक चीज़ के लिए भारतीय मर्द छोड़ सकते हैं सेक्स भी, आइए जानते हैं कौन सी चीज है

भारतीय मर्द – सेक्स न सिर्फ कपल के बीच प्यार बढ़ाता है, बल्कि ये सेहत के लिए भी अच्छा है. रेग्युलर सेक्स से तनाव कम होता है और ये एक बेहतरीन एक्सरसाइज़ भी माना जाता है. आमतौर पर यह माना जाता है कि  सेक्स एक ऐसी चीज है जिसके लिए सबकुछ छोड़ा जा सकता है. क्योंकि सेक्स के आनंद के आगे सबकुछ फीका है, भारतीय मर्द के मामले में ये बात फिट नहीं बैठती.

दरअसल, पूरी दुनिया में भारतीय मर्द ऐसे हैं जो एक चीज के लिए सेक्स को छोड़ ही नहीं सकते बल्कि पूरे हफ्ते भर के लिए सेक्स लाइफ से दूर रह सकते हैं.

आइए जानते हैं कौन सी चीज है जिसके लिए भारतीय मर्द सेक्स को भी छोड़ सकते हैं.

दरअसलट्रैवल बुकिंग प्लेटफॉर्म एक्सपीडिया सर्वे के मुताबिक भारतीयों की ज़िंदगी में छुट्टियों का इतना अकाल पड़ा है कि वे एक वेकेशन के लिए शराबअच्छा खाना और यहां तक कि सेक्स से समझौता करने को भी तैयार हैं. सर्वे कहता है कि उनकी ये ज़रूरत इतनी बड़ी है कि बहुत से लोग अगली नौकरी भी इसी हिसाब से खोज रहे हैं कि वहां छुट्टियां कितनी मिलती हैं.

अच्छी वेकेशन की जरूरत इतनी ज्यादा है कि सर्वे में शामिल लोगों ने इसके लिए पसंदीदा खाना और दूसरी सुविधाओं के साथ सेक्स को भी छोड़ने की इच्छा जताई. छुट्टी बिताने मिल सके तो इन वेकेशन-डिप्राइव्ड लोगों के लिए इंटरनेट से दूरी भी कोई बुरा सौदा नहीं.

लाइट जाने के बाद भाभी बना रही थी देवर से संबंध, सुबह तक नहीं छोड़ा, और जब लाइट आई तब

वर्ष 2016 की तुलना में इस साल ये मानने वाले लोगों का प्रतिशत ज्यादा हैजिसमें लगभग 54% लोगों को टीवी और 23% लोगों को एक दिन अतिरिक्त छुट्टी के लिए एक सप्ताह सेक्स छोड़ने में कोई एतराज नहीं. इसका एक कारण ये भी है कि बीते साल इन्होंने कम छुट्टियां बिताईं.

दरअसल, हमारे देश में प्राइवेट नौकरी करने वालों के लिए अपने लिए टाइम निकालना बहुत मुश्किल हो जाता है, हफ्ते में 6 दिन 9 से 10 घंटे ऑफिस में काम करने के बाद कई बार उन्हें घर से भी काम करना पड़ता है और अगर कभी एक दिन की छुट्टी मांगों तो बॉस ऐसे बिहेव करता है कि जैसे आपने कोई खजाना मांग लिया हो. प्राइवेट जॉब करने वाले भारतीय मर्द की लाइफ में बहुत स्ट्रेस रहता है. कलीग से बेहतर करने का दवाब इनक्रीमेंट के लिए अच्छी परफॉर्मेंस और उसके बाद भी इंक्रीमेंट नहीं मिला तो टेंशन और तनाव और बढ़ जाता है.

शिफ्ट जॉब करने वालों की हालत तो और खराब हो जाती है. इससे उनकी सेहत के साथ ही पार्टनर के साथ रिश्ता भी खराब हो जाता है, क्योंकि वो सिर्फ हफ्ते में एक रात ही पार्टनर के साथ बिता पाते हैं. इस तरह धीरे-धीरे उनकी सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाती है.

अधिकतर लोग साल में बस 2-4 दिन ही अपने परिवार के साथ छुट्टियां बिता पाते हैं. काम करते –करते अधिकांश लोग इतने ऊब जाते हैं कि उनकी मैरिड लाइफ में रोमांस जैसी भी कोई चीज़ नहीं बचती. वो इतने थके रहते हैं कि बस उन्हें दुनिया में सबसे प्यारी चीज़ छुट्टी ही लगती है, इसलिए छुट्टियों के लिए वो सेक्स से भी दूर रहने को तैयार हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बच्चे को खाने में दिया सलाद तो बुला ली पुलिस, उसके बाद…

अक्सर ऐसा होता है कि बच्चों को खाने