केंद्र ने सभी राज्यों को दिए निर्देश

बता दें कि केन्द्र सरकार ने सोमवार को सभी राज्यों को सलाह दी थी कि वे भारत बंद के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम करें और किसी भी हिंसक घटना को होने से रोकें. केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने अपने परामर्श में कहा कि हिंसा के लिए संबद्ध जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार माने जाएंगे.

बीते सप्ताह बंद के दौरान गई थी कई लोगों की जान

बता दें कि सप्ताह भर पहले भी भारत बंद का आह्वान किया गया था. देश के विभिन्न हिस्सों में हिंसा के दौरान लगभग दर्जन भर लोगों की मौत हो गयी थी. ऐसे में राज्यों से संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त तेज करने के लिए कहा गया है ताकि जानमाल के नुकसान को रोका जा सके. सुप्रीम कोर्ट की ओर से एससी—एसटी कानून को कथित तौर पर कमजोर किये जाने के विरोध में कुछ संगठनों की ओर से भारत बंद का आहवान किया गया था.