Home > Mainslide > थोड़ी देर में दलितों पर अत्याचार के खिलाफ राहुल का अनशन

थोड़ी देर में दलितों पर अत्याचार के खिलाफ राहुल का अनशन

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र सरकार की ‘‘नाकामी’’ और संसद की कार्यवाही ठप होने के खिलाफ अपनी पार्टी के राष्ट्रव्यापी ‘‘ अनशन’’ के तहत आज राजघाट पर प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे. कांग्रेस कार्यकर्ता बीजेपी सरकार के खिलाफ और देश में सांप्रदायिक सौहार्द तथा शांति को बढ़ावा देने के लिए सभी राज्य और जिला मुख्यालयों में एकदिवसीय अनशन करेंगे. बता दें कि राहुल गांधी दो घंटे से अधिक तक अनशन पर बैठेंगे.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राहुल गांधी दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सीबीएसई पेपर लीक, पीएनबी घोटाले, कावेरी मुद्दे, आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जे देने और दलितों के खिलाफ हो रहे हमले जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर संसद में चर्चा कराने में केंद्र सरकार की नाकामी के खिलाफ धरना देंगे.

दिल्ली में बारिश से गिरा तापमान, लोगों को गर्मी से मिली राहत

‘शांति और सौहार्द इस देश की आत्मा में मिले हैं और इन्हें बचाने और बढ़ावा देने की जिम्मेदारी कांग्रेस की है.’ ये हैं उस चिट्ठी की पंक्तियां जो कांग्रेस की ओर से अपने सभी प्रदेश इकाइयों के पदाधिकारियों को भेजी गई हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की प्रदेश इकाइयों के प्रमुखों को समाज के सभी वर्गों में सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रव्यापी उपवास रखने के निर्देश दिए हैं. ये उपवास राज्य और जिला मुख्यालयों में 9 अप्रैल को रखने के लिए कहा गया है.

इस उपवास में राहुल अकेले नहीं होंगे बल्कि उनके साथ कांग्रेस पार्टी के वे तमाम कार्यकर्ता होंगे, जिन्हें राहुल गांधी ने 9 अप्रैल को उपवास रखने का निर्देश दिया है. ऐसे तमाम नेता और कार्यकर्ता देश भर के कांग्रेस मुख्यालयों पर अपना उपवास रखेंगे. यहां दिल्ली में राहुल गांधी के साथ भी कई वरिष्ठ कांग्रसी नेता उपवास में शामिल होंगे.

एआईसीसी के महासचिव प्रभारी (संगठन) अशोक गहलोत ने इस बारे में सभी पीसीसी प्रमुखों, महासचिवों, प्रभारियों और कांग्रेस विधायक दलों के नेताओं को चिट्ठी भेज कर उपवास के आयोजन के लिए कहा है.

गहलोत ने चिट्ठी में लिखा है, ‘2 अप्रैल को भारत बंद प्रदर्शन के दौरान जो हुआ, वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण था. ये देश के सामाजिक तानेबाने के लिए बहुत खतरनाक है. साफ है कि बीजेपी शासित केंद्र और राज्य सरकारों ने हिंसा को रोकने के कदम उठाने की पहल नहीं की. ना ही भाईचारे को बचाने के लिए कुछ किया. ऐसे में कांग्रेस के लिए ये और अहम है कि मुश्किल वक्त में देश की अगुआई करे.’

बीजेपी सांसद 12 को रखेंगे उपवास

वहीं मोदी सरकार ने विपक्ष पर फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया है. संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा है कि कांग्रेस लोकतंत्र का गला घोट रही है. संसद के कामकाज में व्‍यवधान की ओर जनता का ध्‍यान आकृष्‍ट करने के लिए बीजेपी सांसद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में 12 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे.

सरकार ने विपक्ष पर फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया है. संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, कांग्रेस लोकतंत्र का गला घोट रही है. संसद के कामकाज में व्‍यवधान की ओर जनता का ध्‍यान आकृष्‍ट करने के लिए बीजेपी सांसद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में 12 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी गत शुक्रवार को इसकी घोषणा की थी.

 
Loading...

Check Also

बनारस में कमल संदेश बाइक रैली को सीएम योगी ने देखाई हरी झंडी

बनारस में कमल संदेश बाइक रैली को सीएम योगी ने देखाई हरी झंडी…

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com