इंदौर की पूर्णिमा बिसे बनीं आईजेएफ रैफरी

- in खेल

इंदौर : यह मध्य प्रदेश के साथ ही ख़ास तौर से इंदौरवासियों के लिए गर्व का विषय है कि उनके ही शहर की पूर्णिमा बिसे ने गत दिनों लेबनान में संपन्न हुई अंतरराष्ट्रीय आईजेएफ कॉन्टीनेंटल रैफरी परीक्षा उत्तीर्ण कर सफलता का नया मुकाम हासिल किया है. वे मध्यप्रदेश की पहली अंतरराष्ट्रीय जूडो रैफरी बन गई है .

इंदौर की पूर्णिमा बिसे बनीं आईजेएफ रैफरी

 पूर्णिमा की इस उपलब्धि की जानकारी देते हुए मध्यप्रदेश जूडो एसोसिएशन के सचिव कुरुष दिनशॉ ने बताया कि लेबनान के बेरुत शहर में 10 से 14 मई तक एशियन कैडेट व जूनियर जूडो प्रतियोगिता के दौरान यह रैफरी परीक्षा हुई थी.इसमें भारत की ओर से राष्ट्रीय महिला रैफरी पूर्णिमा बिसे शामिल हुई थी.जहां उन्होंने यह महत्वपूर्ण परीक्षा उत्तीर्ण की.

उल्लेखनीय है कि जूडो यूनियन ऑफ एशिया के रैफरी डायरेक्टर तकाओ कावागाची से रैफरी प्रमाण-पत्र लेने के बाद पूर्णिमा मध्यप्रदेश की पहली अंतरराष्ट्रीय जूडो रैफरी बन गई. बता दें कि पूर्णिमा की इस उपलब्धि पर मप्र जूडो एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने प्रसन्नता व्यक्त की. पूर्णिमा द्वारा विदेश जाकर यह परीक्षा उत्तीर्ण करना निश्चित ही प्रशंसा की बात है. खेलों में सिर्फ क्रिकेट के प्रति दीवानगी के इस दौर में किसी लड़की द्वारा अन्य खेल के तहत जुडो में रूचि लेकर उसका अंतर्राष्ट्रीय रैफरी बनना अपने आप में एक मिसाल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का मानना, करियर खत्म होने पर ही कोहली की सचिन से हो तुलना

क्रिकेट के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और विराट