नई दिल्ली: कर्नाटक में विभागों के बंटवारे को लेकर करीब एक सप्ताह की खींचतान के बाद गुरुवार को कांग्रेस और जद(एस) के बीच गृह एवं वित्त जैसे अहम विभागों को लेकर सहमति बन गई. सूत्रों के मुताबिक, एच डी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली इस गठबंधन सरकार में कांग्रेस के पास गृह और जद(एस) के पास वित्त विभाग होगा.कर्नाटक में सरकार का फॉर्मूला: गृह कांग्रेस और वित्‍त जद(एस) को मिला, बाकी विभागों पर फैसला आज

उन्होंने बताया कि बुधवार देर रात दोनों पार्टियों के बीच चली बैठक में इन दोनों विभागों को लेकर सहमति बनी और अब अन्य विभागों एवं दूसरी औपचारिकताओं पर बेंगलुरू में दोनों पार्टी के नेता बैठक कर फैसला करेंगे. बेंगलुरू में होने वाली इस बैठक के लिए कांग्रेस के राज्य प्रभारी केसी वेणुगोपाल और जद(एस) महासचिव दानिश अली गुरुवार शाम वहां पहुंच रहे हैं.

जद(एस) महासचिव कुंवर दानिश अली ने भी दोनों पार्टियों के बीच गृह एवं वित्त विभागों को लेकर सहमति बन जाने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया, ‘‘कल देर रात कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और हमारी पार्टी के बीच चली बैठक में इस पर सहमति बनी. अन्य विभागों पर अगले 24 घंटे में फैसला हो जाएगा.’’

बुधवार देर रात हुई बैठक में कांग्रेस की तरफ से गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, अशोक गहलोत और केसी वेणुगोपाल तथा जद(एस) की तरफ से दानिश अली शामिल हुए. सूत्रों का कहना है कि विदेश में मौजूद में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कर्नाटक में विभागों के बंटवारे पर समझौते को लेकर विश्वास में लिया गया है. राहुल अपनी मां सोनिया गांधी के इलाज के लिए विदेश गए हैं.

कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए हाथ मिलाने के बाद से ही दोनों दल विभागों के बंटवारे को लेकर मंथन कर रहे थे और पिछले एक सप्ताह में दोनों दलों के नेताओं ने कई बार बैठकें कीं. गठबंधन सरकार में कांग्रेस कोटे से 21 और जद(एस) के कोटे से 11 मंत्रियों के शामिल होने की संभावना है. कुमारस्वामी ने 23 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उनके साथ ही कांग्रेस के जी परमेश्वर ने भी शपथ ली थी जो इस गठबंधन सरकार में उपमुख्यमंत्री हैं.