नई दिल्ली: दिल्ली में रह रहे लोगों को आने वाले समय में सिर्फ एक रुपए प्रति यूनिट बिजली मिल सकती है. दिल्ली की सरकार इसे लेकर पॉलिसी बना रही है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आने वाले समय में दिल्ली के लोगों को सिर्फ 1 रुपये प्रति यूनिट बिजली मिलेगी. सीएम रविवार को द्वारका में 506 किलोवॉट क्षमता के रूफटॉप सोलर पावर प्लांट का शुभारंभ करने पहुंचे थे.

दिल्ली वाले अब न हों परेशान, अब सिर्फ अब सिर्फ एक रुपए प्रति यूनिट की दर से मिलेगी बिजली

केजरीवाल का कहना है कि द्वारका में सोलर प्लांट से 1 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा है. प्लांट्स को सीधे बीआरपीएल के ग्रिड से भी जोड़ा गया है. शनिवार को 7 सोसायटियों की छतों पर प्लांट का शुभारंभ हो गया. अब द्वारका की 27 सोसायटियों में यह सुविधा है. 100 अन्य सोसायटियां भी इसके लिए तैयारी कर रही हैं. इस प्लांट की मदद से 6.5 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा.

वहीं दूसरी ओर बिजली वितरण करने वाली कंपनियों को आने वाले दिनों में किसी भी कंपनी से बिजली खरीदने की छूट मिल सकती है. अगर ऐसा होता है तो बिजली बिल में कमी आ सकती है. अब तक बिजली बांटने वाली कंपनियां उन्हीं कंपनियों से बिजली खरीद सकती हैं, जिनके साथ उनका करार हो. इसका नुकसान यह होता है कि अगर कोई कंपनी कम दामों पर बिजली बेच रही हो, तो वे वहां से खरीदारी नहीं कर सकतीं. इससे कई राज्यों की बिजली बांटने वाली कंपनियां भारी घाटे में हैं.

बिजली बांटने वाली कंपनियां सरकार से काफी समय से मांग कर रही थीं कि उन्हें किसी भी कंपनी से बिजली खरीदने की छूट दी जानी चाहिए. सरकार को बिजली कंपनियों की मांग को मानने का सुझाव दिया गया है. अगर सरकार इस मांग को मान लेती है तो बिजली बनाने वाली कंपनियों में प्रतियोगिता बढ़ेगी जिससे बिजली बांटने वाली कंपनियों को कम दाम पर बिजली मिलेगी.